October 16, 2018

Latest News

बन्नी को खूब सजाया है सजाने वालो ने, कान्हा वाटिका में बिखरे वैवाहिक खुशियों के रंग, आज बंधेंगे दिव्यांग जोड़े वैवाहिक बन्धन में

DIVYANG VIVAH-1DIVYANG VIVAH-2DIVYANG VIVAH-3DIVYANG VIVAH-4DIVYANG VIVAH-5DIVYANG VIVAH-6DIVYANG VIVAH-7DIVYANG VIVAH-8DIVYANG VIVAH-9

उज्जैन 06 मार्च। उज्जैन की कान्हा वाटिका में खुशियों के रंग बिखर रहे हैं। दिव्यांग जोड़े और उनके परिजन खुशी में इठलाते हुए इस आनन्द से सराबोर हो रहे हैं। सज रही बन्नी मेरी पीली हल्दी में, बन्नी को खूब सजाया है सजाने वालों ने जैसे शादी के गानों के साथ 6 मार्च को बन्ना-बन्नी की मेंहदी तथा हल्दी रस्में पूरी की गई। इस आयोजन में दिव्यांग जोड़ों के परिजनों के साथ ही जैसे पूरा उज्जैन शहर ही उमड़ पड़ा है। क्या प्रशासनिक अधिकारी-कर्मचारी और क्या उज्जैन के नागरिक सभी इस आयोजन में दिलोजान के साथ जुटे हुए हैं। शहर के विभिन्न सामाजिक संगठनों के पदाधिकारी और सदस्य तन-मन-धन से व्यवस्थाओं में अपना-अपना योगदान दौड़-दौड़कर दे रहे हैं। कलेक्टर श्री संकेत भोंडवे के नेतृत्व में पूरा प्रशासनिक अमला अपनी जिम्मेदारियों के निर्वाह में लगा है। मंगलवार 7 मार्च को इस राष्ट्रीय सामूहिक दिव्यांग विवाह आयोजन में 101 दिव्यांग जोड़े विवाह के बन्धन में बंधेंगे, तैयारी पूरी हो गई है।

स्वागत द्वार को सजाया है खूबसूरती से

कान्हा वाटिका पर बनाया गया स्वागत द्वार खूबसूरती के साथ फूलों से सजाया गया है। दिव्यांग जोड़ों तथा उनके परिवार वालों का द्वार से प्रवेश करते ही आत्मीयता के साथ स्वागत किया गया। उन पर फूलों की वर्षा की गई। द्वार पर खड़ी हुई कन्याओं द्वारा कुमकुम, चावल के साथ स्वागत किया गया।

नगर की महिलाओं ने लगाई वधूओं को हल्दी व मेंहदी

इस दिव्यांग विवाह आयोजन में उज्जैन की महिलाओं ने बढ़-चढ़कर अपनी भागीदारी की है। वधूओं को मेंहदी व हल्दी की रस्म के लिये ये महिलाएं अपने घर की शादी की तरह सज-धजकर आई और अपनी बहन-बेटियों की तरह वधूओं को मेंहदी व हल्दी लगाई। इन महिलाओं ने शादी के गानों पर थिरक कर समां बांध दिया। भारतीय जैन संगठन की लगभग 50 महिला सदस्याओं के साथ ही अन्य महिलाएं भी इन रस्मों में सम्मिलित हुई। रचना सगा, साशा जैन, अंजु सुराना, मनीषा सुराना, विनीता, अमिता, प्रमिला, अंजु, सुषमा ठाकुर के साथ ही अन्य महिलाओं ने बढ़-चढ़कर इन रस्मों में अपना योगदान दिया।

कलेक्टर ने दूल्हों को लगाई हल्दी

हल्दी रस्म के दौरान कलेक्टर श्री संकेत भोंडवे एक अभिभावक की तरह सपत्निक मौजूद रहे। कलेक्टर ने स्वयं अपने हाथों से अब्दुल हबीब, अब्दुल शफीक, सत्यनारायण जैसे कई दूल्हों को प्रतिकात्मक रूप से हल्दी लगाई। वहीं उनकी धर्मपत्नी ने भी वधूओं को हल्दी-मेंहदी लगाई। इस अवसर पर श्रीमती भोंडवे, निगम आयुक्त की धर्मपत्नी तथा महापौर श्रीमती मीना जोनवाल भी अपने परिवार के आयोजन की तरह हाथों में मेंहदी लगा रही थी।

सामान्य युवक कर रहा है दिव्यांग युवती से विवाह

इस आयोजन में जिले के संडावदा ग्राम का खुशालसिंह पंवार जो एक सामान्य युवक है, वह एक दिव्यांग युवती से विवाह रचा रहा है। उसकी जीवन संगिनी जिले के ही खुरचनिया की सोना कुंवर है, जो एक पैर से दिव्यांग है। खुशालसिंह ने बताया कि वह अपने दिल से इस युवती से विवाह कर रहा है। उसका कहना था कि “यदि शादी के बाद किसी के जीवनसाथी के साथ ऐसा होता तो क्या करता।” इसके अलावा सत्यनारायण पाटीदार भी आयोजन के द्वारा वैवाहिक बन्धन में बंधने जा रहा है। सत्यनारायण भी अत्यन्त आंशिक दिव्यांग है, परन्तु वह एक पैर से दिव्यांग खाचरौद क्षेत्र की किरण के साथ विवाह कर रहा है।

पुलिस बैण्ड ने बिखेरी संगीत की मधुर लहरियां

दिव्यांग विवाह आयोजन में इन्दौर के पुलिस बैण्ड ने विशेष रूप से शिरकत की है। इस दल में करीब 20 सदस्य उज्जैन आये हैं। सोमवार को इस पुलिस बैण्ड ने संगीत की मधु लहरियां कान्हा वाटिका परिसर में बिखेरी। वैवाहिक गीतों के साथ ही पुराने फिल्मी गीतों के जरिये पुलिस बैण्ड ने सुनने वालों को मंत्रमुग्ध किया।

कला पथक दल ने भी गायन से बांधा समां

इस आयोजन में सामाजिक न्याय विभाग का कला पथक दल भी अपने योगदान में पीछे नहीं है। दल में शामिल सदस्यों द्वारा मेंहदी तथा हल्दी रस्मों के दौरान परम्परागत गीतों को खूबसूरती के साथ प्रस्तुत किया गया। दल में शामिल शैलेन्द्र भट्ट, अर्चना मिश्रा, मोना नथालियन, नरेन्द्र कुशवाह, राजेश जूनवाल द्वारा गायन-वादन में सहभागिता की जा रही है।

कंट्रोल रूम स्थापित

राष्ट्रीय दिव्यांग विवाह आयोजन के सुव्यवस्थित संचालन के लिये कान्हा वाटिका पर ही एक कंट्रोल रूम भी स्थापित किया गया है। इस पर अधिकारी-कर्मचारी तैनात किये गये हैं। इसके अलावा परिसर में ही बैंक ऑफ इण्डिया द्वारा दिव्यांग जोड़ों के बैंक खाते भी खोले जा रहे हैं। साथ ही उनके आधार इनरोलमेंट भी किये जा रहे हैं। बीमा सम्बन्धी कार्यवाही भी हो रही है। स्थल पर ही मेडिकल तथा आपात चिकित्सा की व्यवस्था भी की गई है।

कलेक्टर के नेतृत्व में प्रशासनिक अधिकारी-कर्मचारी घर जैसी जिम्मेदारियां निभा रहे

राष्ट्रीय दिव्यांग सामूहिक विवाह आयोजन में कलेक्टर श्री संकेत भोंडवे के नेतृत्व में प्रशासनिक अधिकारी-कर्मचारी तथा सामाजिक संगठनों, संस्थाओं के व्यक्ति अपनी जिम्मेदारियां अपने घर की जिम्मेदारी समझकर निभा रहे हैं। कलेक्टर स्वयं छोटी-छोटी बातों की जानकारी लेकर दिशा-निर्देश दे रहे हैं।

दिव्यांग जोड़ों का विवाह आज होगा सम्पन्न

उज्जैन में आज इतिहास रचा जायेगा, जब 101 दिव्यांग जोड़े विवाह के बन्धन में बंधेंगे। विवाह के फेरे स्टेनफोर्ड स्कूल परिसर में प्रात: 10.30 से दोपहर 12 बजे तक होंगे। इसी परिसर में मुस्लिम जोड़ों के निकाह भी होंगे। मुख्यमंत्री श्री शिवराज सिंह चौहान आशीर्वाद समारोह में शामिल होकर दिव्यांग जोड़ों को आशीर्वाद प्रदान करेंगे। आशीर्वाद समारोह में केन्द्रीय सामाजिक न्याय एवं अधिकारिता मंत्री श्री थावरचंद गेहलोत भी शामिल होंगे, जिनके मार्गदर्शन में उक्त विवाह का आयोजन किया जा रहा है। -शकील खान (मो.नं.-9826632452)

क्रमांक 080-0737 जोशी