September 25, 2017

Latest News

मुख्यमंत्री श्री चौहान से ब्रिटिश हाई कमीशन के प्रतिनिधि मंडल ने की भेंट

उज्जैन 02 सितम्बर। मुख्यमंत्री श्री शिवराज सिंह चौहान से आज ब्रिटिश हाई कमीशन के प्रतिनिधि मण्डल ने भेंट की। इस अवसर पर मुख्यमंत्री ने भारत और ब्रिटेन के कॉमनवेल्थ के अन्तर्गत प्रगाढ़ रिश्तों का जिक्र करते हुए प्रदेश में शहरी गरीब बस्तियों के उन्नयन और शिक्षा के क्षेत्र में ब्रिटिश हाई कमीशन के साथ पारस्परिक सहयोग को और अधिक मजबूत बनाने की आवश्यकता प्रतिपादित की। श्री चौहान ने कहा कि प्रधानमंत्री श्री नरेन्द्र मोदी ने दोनों देशों के संबंधों को मजबूत बनाने के प्रयासों को नई दिशा दी है।

श्री चौहान ने ब्रिटिश हाई कमीशन से भेंट के दौरान बताया कि सांस्कृतिक, शैक्षणिक, खेल और पर्यटन गतिविधियों में सहयोग की अपार संभावनाएँ हैं। प्रदेश में विकास दर दस प्रतिशत तक पहुंच गई है। विगत 5 वर्षों से कृषि विकास दर औसतन 20 प्रतिशत बनी हुई है। मुख्यमंत्री ने प्रधानमंत्री श्री नरेन्द्र मोदी के वर्ष 2022 तक नये भारत के निर्माण की अवधारणा अनुसार मध्यप्रदेश के नव-निर्माण के प्रयासों का जिक्र करते हुए बताया कि मध्यप्रदेश में सभी वर्गो का आर्थिक विकास सुनिश्चित करने कोशिशें जारी हैं। प्रदेश में महिला सशक्तिकरण की विशेष पहल हुई है। स्थानीय निकायों में महिलाओं के लिए 50 प्रतिशत आरक्षण की व्यवस्था की गई है। इसके फलस्वरूप 56 प्रतिशत महिलाएँ निर्वाचित हुईं हैं। महिलाओं को शासकीय सेवाओं में (वन विभाग को छोड़कर) 33 प्रतिशत और शिक्षक के पदों पर 50 प्रतिशत आरक्षण दिया गया है। इन प्रयासों से सत्ता में महिलाओं की भागीदारी बढ़ी हैं। मुख्यमंत्री श्री चौहान ने बताया कि लाड़ली लक्ष्मी जैसी योजनाएँ प्रदेश में चलाई गई हैं ताकि महिलाओं का आत्मविश्वास बढ़े और सामाजिक सोच में बदलाव आये।

मुख्यमंत्री श्री चौहान ने शिक्षा की गुणवत्ता बढ़ाने के लिए समाज को जोड़ने की पहल में ‘मिल बाँचे मध्यप्रदेश’ कार्यक्रम का उल्लेख करते हुए बताया कि 2 लाख 15 हजार से अधिक प्रबुद्धजन स्वत: ही स्कूलों और बच्चों से जुड़े हैं। इन लोगों ने स्कूलों की व्यवस्था को बेहतर बनाने में सहयोग भी दिया है। इनमें राजनेता, पत्रकार, अधिकारी, व्यवसायी और व्यापारी सभी शामिल हैं। श्री चौहान ने शिक्षा के क्षेत्र में मिलकर कार्य करने की संभावनाओं पर प्रकाश डालते हुए कहा कि अंग्रेजी के ज्ञान से रोजगार की वैश्विक संभावनाएँ बढ़ती है। राज्य के ग्रामीण अंचलों में इस दिशा में बहुत कार्य किया जा सकता है। विश्वविद्यालयों को उत्कृष्टतम बनाने की कोशिशें की जा रही हैं। इंदौर विश्वविद्यालय को उत्कृष्ट बनाया जा रहा है। पर्यटन के क्षेत्र पर फोकस करते हुए मुख्यमंत्री ने प्रदेश की सांस्कृतिक और ऐतिहासिक समृद्धता का जिक्र किया।

ब्रिटिश हाई कमीशन के मिनिस्टर ऑफ कल्चर अफेयर्स श्री एलन गेममेल ने मुख्यमंत्री श्री चौहान को बताया कि वे दूसरी बार भोपाल आये हैं। जनजातीय संग्रहालय देख कर अत्यंत प्रभावित हैं। उन्होंने संग्रहालय को विश्व के सर्वोत्कृष्‍ट संग्रहालयों जैसा बताया। श्री गेममेल ने प्रदेश में ब्रिटिश पर्यटकों को आमंत्रित करने में सहयोग का आग्रह किया। उच्च शिक्षा में अंग्रेजी शिक्षण प्रणाली, शोध और प्राथमिक शिक्षकों के अंग्रेजी प्रशिक्षण में किये जा रहे सहयोग के बारे में भी बताया। उन्होंने न्यायालयीन प्रणाली, प्रशासन तंत्र और पर्यटन से जुड़े अमले के लिए अंग्रेजी के कौशल उन्नयन की परियोजनाओं की जानकारी दी तथा इन क्षेत्रों में राज्य सरकार से सहयोग की अपेक्षा की। उन्होंने कहा कि मध्यप्रदेश में विकास और सामाजिक सुरक्षा की योजनाओं की प्रगति से प्रतिनिधि मंडल अत्यंत प्रभावित है।

प्रतिनिधि मंडल में ब्रिटिश डिप्टी हाई कमीशन की डायरेक्टर वेस्ट इंडिया सुश्री हेलन सिलवेस्टर, सीनियर रीजनल एडवाइजर मध्यप्रदेश श्री यश मेहरा, पार्टनरशिप हेड श्री वर्णन डिसूजा भी शामिल थे।

क्रमांक 2991                     -*0*-          हरिशंकर शर्मा (मो.नं.-9424863313)/राजेश