September 26, 2017

Latest News

जिले के जलाशयों में 22.47 प्रतिशत पानी ही आया, कलेक्टर ने पेयजल के लिये पानी की सुरक्षा करने के निर्देश दिये, गंभीर कैचमेंट एरिये में कम पानी की फसलें बोई जायेंगी

 

उज्जैन 04 सितम्बर। जिले में हुई कम बारिश के मद्देनजर कलेक्टर श्री संकेत भोंडवे ने आज टीएल बैठक में जलाशयों में एकत्रित हुए जल को पीने के लिये सुरक्षित रखने के निर्देश देते हुए उज्जैन नगर को पानी सप्लाई करने वाले गंभीर डेम के कैचमेंट एरिये में अभी से जन-जागरण करके कम पानी की फसलें बोने के लिये किसानों को प्रेरित करने को कहा है। कलेक्टर ने कहा है कि गंभीर डेम से पानी की चोरी किसी भी स्थिति में नहीं होने दी जायेगी। बैठक में नगर निगम आयुक्त डॉ.विजयकुमार जे., अपर कलेक्टर श्री बसन्त कुर्रे, एडीएम श्री नरेन्द्र सूर्यवंशी सहित विभिन्न विभागों के अधिकारी मौजूद थे।

कलेक्टर ने नगर निगम आयुक्त को निर्देश दिये हैं कि उज्जैन शहर में पेयजल वितरण के समय होने वाले लाइन लॉस को कम किया जाये। बैठक में जानकारी दी गई कि पर्याप्त बारिश नहीं होने के कारण उज्जैन जिले के लगभग सभी जलाशयों में क्षमता के विरूद्ध केवल 22.47 प्रतिशत पानी ही आया है। यही नहीं जिले में बहने वाली छोटी कालीसिंध नदी में तो फ्लो ही नहीं बन पाया है। कलेक्टर ने सभी नदी नालों में बने हुए स्टापडेमों के कड़ी-शटर लगाने के निर्देश जारी किये हैं।

180 दिन के पानी को 360 दिन चलायें

बैठक में नगर‍ निगम आयुक्त ने जानकारी दी कि गंभीर डेम में उज्जैन में 180 दिन जलप्रदाय हो सके इतना जल उपलब्ध है। कलेक्टर ने इस पर निर्देश दिये कि संकट के समय संग्रहित जल का मिव्ययता से उपयोग किया जाये। 180 दिन के पानी से उज्जैन शहर में 360 दिन पेयजल प्रदान किया जाये। इसके लिये दो दिन छोड़कर भी पानी देना पड़े तो इस पर निर्णय लिया जा सकता है।

गंभीर कैचमेंट एरिया में केवल चना एवं सरसों की फसल होगी

कलेक्टर ने बैठक में उप संचालक कृषि, एसडीएम उज्जैन, घट्टिया एवं नगर निगम के अधिकारियों को निर्देशित किया कि गंभीर कैचमेंट एरिया में जल अभाव को देखते हुए इस बार दो पानी की फसलें लेने हेतु किसानों को निर्देशित किया जाये। उन्होंने स्पष्ट किया कि गेहूं में पांच पानी लगता है और चना एवं सरसो में केवल दो पानी से काम चल जाता है। इससे क्षेत्र का अण्डर ग्राउण्ड वाटर लेवल भी मेंटेन रहेगा और किसान कम पानी में अच्छी आमदनी भी प्राप्त कर सकेंगे। बैठक में बताया गया कि इस क्षेत्र के 850 बड़ी जोत वाले किसान 3200 हेक्टेयर में सिंचित फसल करते हैं। कलेक्टर ने इन किसानों को शत-प्रतिशत फसल चक्र में परिवर्तन करने के लिये प्रेरित करने के निर्देश दिये हैं। कलेक्टर ने उप संचालक कृषि को निर्देशित किया है कि वे जिले में कार्यरत सभी ग्रामीण कृषि विस्तार अधिकारियों की ड्यूटी गंभीर कैचमेंट एरिया के प्रत्येक ग्राम में लगायें एवं सुनिश्चित करें कि किसान कम पानी की फसल ही बोयें। इसके लिये व्यापक पैमाने पर अभियान चलाकर प्रचार-प्रसार करने को कहा गया है। कलेक्टर ने उप संचालक कृषि को निर्देशित किया है कि जिले के सभी बड़े तालाबों के आसपास भी इसी तरह से क्रॉपिंग पैटर्न में बदलाव लाने के प्रयास किये जायें।

खसरा खतौनी से आधार नम्बर जुड़ेगा

कलेक्टर ने निर्देश दिये हैं कि राजस्व विभाग का अमला आगामी 6, 7 एवं 8 सितम्बर को आयोजित होने वाले विशेष ग्राम सभाओं में बी-1 में आधार नम्बर जोड़ेगा। कलेक्टर ने खसरा खतौनी देने के लिये एटीएम मशीन की तरह जिले की किसी एक तहसील में कम्प्यूटराईज्ड मशीन लगाने के निर्देश दिये हैं, जिससे कि किसान स्वयं जाकर खसरा खतौनी की नकल जब चाहे तब प्राप्त कर सके।

13 सितम्बर को अचल सम्पत्ति की समीक्षा होगी

कलेक्टर ने सिंहस्थ-2016 में उज्जैन शहर में निर्मित अचल सम्पत्तियों की वर्तमान स्थिति की समीक्षा के लिये 13 सितम्बर को बैठक आयोजित करने के निर्देश दिये हैं। बैठक के पूर्व सभी सम्बन्धित अधिकारियों को कहा गया है कि वे सिंहस्थ असेट मैनेजमेंट साफ्टवेयर में अचल सम्पत्ति के ताजा फोटो लोड करें एवं इनकी मरम्मत एवं रख-रखाव के लिये क्या कार्य किये जा रहे हैं, इसकी जानकारी बतायें। कलेक्टर ने साथ में यह भी निर्देश दिये हैं कि किसी सम्पत्ति के रख-रखाव में यदि राज्य शासन से धनराशि की आवश्यकता हो तो उसकी मांग भी रखी जाये।

22 सितम्बर को हाउसिंग फॉर आल मेला लगेगा

उज्जैन शहर में नगर निगम, हाउसिंग बोर्ड, विकास प्राधिकरण एवं क्रेडाई द्वारा निर्मित किये गये कम लागत के मकानों की सेल के लिये 22 सितम्बर को हाउसिंग फॉर आल मेला आयोजित किया जायेगा। कलेक्टर ने इसके लिये जिले के सभी शासकीय एवं अशासकीय संस्थानों के कर्मचारियों को इस मेले में आमंत्रित करने के निर्देश दिये हैं। स्पॉट पर फायनेंस के लिये बैंकिंग अधिकारियों को भी स्टाल लगाने को कहा है। यह मेला नगर निगम कार्यालय परिसर में आयोजित होना प्रस्तावित है। उल्लेखनीय है कि नगर निगम द्वारा कम आय वर्ग के लिये निर्मित लगभग ढाई हजार फ्लेट खाली पड़े हैं।

क्रमांक 3013                                      हरिशंकर शर्मा (मो.नं.-9424863313)/जोशी