November 21, 2017

Latest News

गणेश प्रतिमाओं का विर्सजन नदी के स्थान पर ”विर्सजन कुंड” में करें, नदी व पर्यावरण को प्रदूषण से बचायें,जिला प्रशासन की आमजन से अपील

 

उज्जैन 04 सितंबर। आज मंगलवार को आयोजित होने वाले अनंत चतुर्दशी पर्व के अवसर पर गणेश प्रतिमाओं के विर्सजन के लिए कलेक्टर श्री संकेत भोंडवे ने आमजन से अपील की है कि वे प्रतिमाओं का विर्सजन नदी के स्थान पर निर्धारित किये गये ”विर्सजन कुंड” में करें। इस हेतु प्रशासन द्वारा विभिन्न घाटों पर नगर पालिका निगम की ओर से वाहनों की भी व्यवस्था की गई है। श्रध्दालु घाटों पर प्रतिमाओं के पूजन के पश्चात उन्हें सीधे नदी में प्रवाहित न करते हुए नगर निगम के वाहनों में रख सकते हैं। इनका विर्सजन निकाय द्वारा सामूहिक रूप से कालियादह महल पर निर्धारित किये गये स्थल में किया जाएगा।

अतिरिक्त जिला दंडाधिकारी श्री नरेन्द्र सूर्यवंशी ने गणेश प्रतिमा विर्सजन और चल समारोह के लिए लगाई गयी विभिन्न अधिकारियों की ड्यूटी की समीक्षा सोमवार को सिंहस्थ मेला कार्यालय में की । उन्होनें अधिकारियों को निर्देश दिये कि जिन स्थलों पर उनकी ड्यूटी लगाई गयी है, वहां आमजन को प्रतिमाओं को सीधे नदी में विसर्जित न करते हुए उन्हें नगर पालिका निगम के अमले को पूजन के पश्चात सौंपने के लिए कहें तथा लोगों को जागरूक करें कि पर्यावरण को प्रदूषण से बचाने के लिए यह कदम उठाना वर्तमान परिस्थितियों में बेहद आवश्यक है।

श्री सूर्यवंशी ने कहा कि नदियों और पेयजल स्त्रोतों में मूर्तियों के विर्सजन से पर्यावरण तो प्रदूषित होता ही है,  साथ ही लोगों के स्वास्थय पर भी इसका बुरा असर पड़ता है। इसलिए आमजन को सामूहिक प्रतिमा विर्सजन के लिए जागरूक किया जाना जरूरी है। इसके साथ ही एडीएम ने यह भी कहा कि घाटों पर लोगों को स्नान करने तथा मूर्तियों के पूजन से न रोका जाए। अधिकारियों के अलावा पुलिस दल भी घाटों पर तैनात रहेंगे। एडीएम ने अधिकारियों को बताया कि उनकी ड्यूटी दो शिफ्टों में लगाई गयी है। सभी अधिकारी समय पर ड्यूटी स्थल पर पहुंचे।

एडीएम ने निर्देश दिये कि ड्यूटी स्थल पर मौजूद अधिकारी इस बात का भी विशेष ध्यान रखें कि पुल के ऊपर से लोगों को मूर्तियों को विर्सजित करने से रोका जाए, क्योंकि ऐसे में दुर्घटना कि आशंका रहती है। बैठक में बताया गया कि गणेश प्रतिमाओं के विर्सजन की व्यवस्था स्थानीय निकाय द्वारा कालियादह महल पर निर्मित पृथक स्थान पर की गई है। इसके अलावा त्रिवेणी पर बनाये गये नवनिर्मित घाट, प्रशांति धाम, गऊघाट, नृसिंह घाट व सिध्दाश्रम घाट पर प्रतिमाओं का विर्सजन पूर्णत: प्रतिबंधित रहेगा।

एडीएम श्री सूर्यवंशी ने अधिकारियों को यह भी निर्देश दिये कि विर्सजन के लिए अनंत चतुर्दशी के अगले दिन भी आसपास के गांवों से लोग आते हैं इसलिए उन्हें भी नदी में प्रतिमाओं को सीधे विर्सजित करने से रोकें तथा पर्यावरण के प्रति जागरूक करें।

क्रमांक 3026                                                 अनिकेत/अशोक