November 21, 2017

Latest News

स्वर्णिम व उज्ज्वल भविष्य के निर्माता हैं शिक्षक, शिक्षक व माता पिता के आशीर्वाद के बिना जीवन अधूरा है –मंत्री श्री जैन, शिक्षक दिवस पर ऊर्जा मंत्री व शिक्षकों का सम्मान

उज्जैन 05 सितम्बर। देश के पूर्व राष्ट्रपति डॉ.सर्वपल्ली राधाकृष्णन के जन्मदिवस, जिसे हम शिक्षक दिवस के रूप में बेहतर जानते हैं, पूरे हर्षोल्लास के साथ शहर के विभिन्न शैक्षणिक संस्थानों में मनाया गया। विद्यार्थियों ने शिक्षकों का आदर-सत्कार कर उनसे आशीर्वाद प्राप्त किया। शिक्षकों ने भी बच्चों के उज्ज्वल भविष्य की कामना करते हुए अपनी ओर से बच्चों को पूर्ण रूप से पारंगत करने का प्रण लिया, ताकि वे आगे चलकर स्वर्णिम और उज्ज्वल देश के निर्माण में अपना सहयोग दे सकें।

इसी तारतम्य में विक्रम कीर्ति मन्दिर में मंगलवार को शिक्षक दिवस के अवसर पर प्रदेश के ऊर्जा मंत्री श्री पारस जैन ने उत्कृष्ट सेवाएं देने वाले शिक्षकों का प्रशस्ति-पत्र व स्मृति चिन्ह देकर सम्मान किया। इस दौरान सिंहस्थ मेला प्राधिकरण के अध्यक्ष श्री दिवाकर नातू व श्री सोनू गेहलोत मौजूद थे। कार्यक्रम का आयोजन नगर पालिका निगम द्वारा किया गया। महापौर श्रीमती मीना जोनवाल ने कार्यक्रम की अध्यक्षता की। इस दौरान शिक्षा समिति व महापौर परिषद के सदस्य भी मौजूद थे।

मंत्री श्री जैन ने इस अवसर पर कहा कि शिक्षक ही बच्चों के स्वर्णिम और उज्ज्वल भविष्य के निर्माता होते हैं। शिक्षक और माता-पिता के आशीर्वाद के बिना जीवन अधूरा है। पूर्व राष्ट्रपति डॉ.राधाकृष्णन के जन्मदिवस पर पूरे प्रदेश में शिक्षक दिवस मनाया जा रहा है। उज्जैन भगवान श्रीकृष्ण और सुदामा की शिक्षास्थली रही है, यह हम सबका सौभाग्य है कि उनके गुरू महर्षि सान्दीपनि इसी नगरी के थे, जिन्हें स्वयं भगवान का शिक्षक होने का गौरव प्राप्त हुआ।

मंत्री ने कहा कि अच्छी शिक्षा प्राप्त करने के लिये बच्चों की नींव मजबूत होना बहुत जरूरी है। मध्य प्रदेश शासन द्वारा शिक्षा विभाग के अन्तर्गत अनगिनत सुविधाएं बच्चों को उपलब्ध कराई गई हैं, ताकि वे खूब मन लगाकर पढ़ सकें तथा शिक्षा प्राप्त करने में आने वाली मूलभूत समस्याएं उनके रास्ते में न आ सकें। श्री जैन ने शिक्षकों से अपील की कि वे आमजन को अपने बच्चों को शासकीय विद्यालयों में भेजने और शिक्षा दिलवाने के लिये प्रेरित करें, क्योंकि मध्य प्रदेश शासन बच्चों को आधारभूत और उच्च शिक्षा दिलवाने के लिये प्रतिबद्ध है। इसके लिये शासन द्वारा नि:शुल्क पुस्तकें, नि:शुल्क गणवेश, आने-जाने के लिये सायकल और मध्याह्न भोजन की भी व्यवस्था की गई है। मंत्रीजी ने अपनी ओर से शिक्षक दिवस पर सभी को शुभकामनाएं दीं।

क्रमांक 3043                                      अनिकेत शर्मा (मो.नं.-9806301789)/जोशी