November 21, 2017

Latest News

शासकीय पॉलीटेक्निक कॉलेज के मुख्य द्वार को दिया जायेगा आकर्षक स्वरूप,गवर्निंग बॉडी की बैठक में लिये गये कई निर्णय

उज्जैन 08 सितम्बर। उज्जैन के शासकीय पॉलीटेक्निक कॉलेज को नया कलेवर दिया जायेगा। कॉलेज के मुख्य द्वार को आकर्षक स्वरूप मिलेगा, इसे ग्लो साईन बोर्ड या पत्थरों द्वारा खुबसूरती दी जायेगी। खेल सुविधाओं का विस्तार होगा। हॉकी के लिये एस्ट्रोटर्फ सुविधा उपलब्ध कराई जायेगी। ऐसे कई निर्णय कॉलेज की गवर्निंग बॉडी की बैठक में लिये गये। शुक्रवार को आयोजित इस बैठक में विधायक डॉ.मोहन यादव, कलेक्टर श्री संकेत भोंडवे, कॉलेज के प्राचार्य श्री एमडी महाजन तथा सदस्यगण उपस्थित थे।

बैठक के प्रारम्भ में कॉलेज के बजट तथा खर्च की जाने वाली राशि पर चर्चा की गई। प्राचार्य द्वारा प्रस्तावित कार्यों से अवगत कराया गया। कलेक्टर श्री संकेत भोंडवे ने निर्देश दिये कि खेल गतिविधियों के मद्देनजर कॉलेज के स्टेडियम को स्तरीय बनाया जाये। परिसर में रनिंग ट्रेक का निर्माण करवायें। विद्यार्थियों को हॉकी खेलने के लिये एस्ट्रोटर्फ सुविधा उपलब्ध कराने का निर्णय भी लिया गया। कलेक्टर ने एस्ट्रोटर्फ के लिये एक सप्ताह में प्राक्कलन तैयार करने के निर्देश दिये। पॉलीटेक्निक कॉलेज के सभागृह को ऑडिटोरियम का स्वरूप देने का निर्णय भी लिया गया। वातानुकूलित ऑडिटोरियम में टॉयलेट, छोटी पेन्ट्री, फिल्टर वाटर सुविधा, फायर वाहन, एलईडी स्क्रीन की सुविधा के साथ ही सीसी रोड पहुंच मार्ग भी बनवाया जायेगा। विद्यार्थियों को आधार कार्ड बनवाने के लिये आधार एनरोलमेंट सुविधा कॉलेज परिसर में ही उपलब्ध कराने के निर्देश भी दिये गये।

उन्होंने कहा कि कॉलेज में विद्यार्थियों के लिये हर जरूरी सुविधाओं तथा सुरक्षा पर विशेष रूप से ध्यान दिया जायेगा। कलेक्टर ने निर्देश दिये कि दृष्टिबाधित विद्यार्थियों के लिये ब्रेल सेन्टर बनाया जाये। कॉलेज में बाधारहित वातावरण निर्मित हो। जहां सीढ़ियां हैं, वहां रैम्प अनिवार्य रूप से बनाया जाये। सुरक्षा व्यवस्था में बढ़ोत्री करते हुए 15 पुरूष तथा 15 महिला सुरक्षाकर्मी तैनात किये जायें, जो शिफ्टों में कार्य करेंगे। कॉलेज के सिर्फ दो गेट चालू रहें। परिसर के क्वाटर्स में रहने वाले स्टाफ द्वारा पशुपालन करने पर सख्ती से अंकुश लगाया जाये। ऐसे कर्मियों को नोटिस देते हुए एक-एक वेतनवृद्धि रोकी जाये। कॉलेज परिसर में सोडियम वेपर लैम्प के स्थान पर सोलर लाईट या एलईडी बल्ब लगाये जायें।

बैठक में विधायक डॉ.मोहन यादव ने निर्देश दिये कि कॉलेज के जो विद्यार्थी गरीब परिवारों से सम्बद्ध होकर फीस चुकाने या अन्य जरूरी शैक्षणिक खरीदी में असमर्थ हों, उनकी जानकारी दी जाये। उनको विधायक निधि से मदद की जायेगी। विधायक ने बताया कि आगामी वर्ष 2018 में सम्राट विक्रमादित्य का अमृत महोत्सव आयोजित किया जायेगा। शहर की सभी बड़ी शैक्षणिक संस्थाओं की भी इसमें भागीदारी होगी। पॉलीटेक्निक कॉलेज भी इसके लिये विज्ञान आधारित आयोजन हेतु कार्य योजना बनाये। बैठक में कॉलेज की अधोसंरचनात्मक सुविधाओं के विस्तार हेतु कई निर्णय लिये गये। कलेक्टर ने निर्देश दिये कि आगामी अक्टूबर से पूर्व जरूरी रंगरोगन व व्हाईट वॉश सुनिश्चित किया जाये। खरपतवार हटायें, मच्छरों का उन्मूलन हो। कॉलेज भवन तथा परिसर के क्वाटर्स में वाटर हार्वेस्टिंग सिस्टम स्थापित करवाये जायें। परिसर में सम्पवेल का निर्माण किया जाये।

कलेक्टर ने निर्देश दिये कि कॉलेज में फिजियो सेन्टर बनवाकर फिजियोथैरेपिस्ट की सेवाएं ली जायें। छात्र-छात्राओं के लिये पृथक-पृथक महिला-पुरूष फिजियोथैरेपिस्ट रखे जायें। इसी तरह व्यायाम के लिये जिम में भी पृथक-पृथक महिला पुरूष ट्रेनर तैनात किये जायें। अटैंडेंस के लिये चार नई बायोमैट्रिक मशीनें क्रय की जायें। स्टाफ की अटैंडेंस बायोमैट्रिक मशीनों पर होगी। मशीनों में कोई भी व्यक्ति गड़बड़ी नहीं करे, यह सुनिश्चित किया जाये। यदि मशीन खराब होती हैं तो सबसे पहले कलेक्टर को जानकारी दी जाये। कलेक्टर ने कॉलेज में 50 सीसीटीवी कैमरे भी लगाने के निर्देश दिये। ये कैमरे इंफ्रारेड सीसीटीवी होंगे।किसी भी प्रकार की दुर्घटना को रोकने के लिये हर छह माह में मॉकड्रिल की जाये। कलेक्टर ने कॉलेज के एनसीसी कैडेट्स हेतु अतिरिक्त कक्ष निर्माण करने, कॉलेज की पुरानी अलमारियों को पेन्ट करने, नये सोफे, पर्दे क्रय करने, सफाई व्यवस्था के लिये छह पुरूष तथा इतनी ही महिलाकर्मी मैनेजर सहित नियुक्त करने, विद्यार्थियों के प्लेसमेंट के लिये सतत शिविर आयोजित करने, सीपीसीटी परीक्षा में इस वर्ष कॉलेज से 500 विद्यार्थियों को शामिल कराने, लायब्रेरी में अंग्रेजी समाचार-पत्रों तथा पत्रिकाओं की संख्या में वृद्धि करने के निर्देश भी दिये। उन्होंने प्रत्येक सप्ताह सौ रोजगार समाचार-पत्र मंगवाने, इन्हें होस्टल, लायब्रेरी तथा रिसेप्शन पर रखवाने के निर्देश दिये।

कलेक्टर द्वारा कॉलेज के विद्यार्थियों को वैज्ञानिक अवधारणा पर आधारित शहर के नजदीक डोंगला वेधशाला, तारा मण्डल तथा त्रिवेणी म्युजियम का अवलोकन कराने के निर्देश भी दिये गये। विद्यार्थियों को लाईट एण्ड साउण्ड शो दिखाने के भी निर्देश कलेक्टर ने दिये। कॉलेज परिसर में पार्किंग सुविधाओं के विस्तार, रिक्त पदों पर अतिथि शिक्षकों की नियुक्ति आदि के बारे में भी निर्देशित किया।                                                            (फोटो संलग्न)

क्रमांक 3079                                             शकील खान (मो.नं.-9826632452)/जोशी