September 26, 2017

Latest News

भावान्तर योजना में लघु सीमान्त किसानों के अधिकाधिक पंजीयन हों, कलेक्टर ने योजना क्रियान्वयन की समीक्षा की

 

उज्जैन 13 सितम्बर। राज्य शासन की भावान्तर योजना के वृहद क्रियान्वयन की तैयारी जिले में की जा रही है। तैयारियों की समीक्षा कलेक्टर श्री संकेत भोंडवे ने आज बुधवार को मेला कार्यालय सभाकक्ष में की। कलेक्टर ने योजना में किसानों के पंजीयन के बारे में निर्देश देते हुए कहा कि जिले के लघु एवं सीमान्त किसानों के अधिकाधिक पंजीयन सुनिश्चित किये जायें। आगामी 25 सितम्बर तक पंजीयन कार्य पूर्ण किया जाये। बैठक में खाद्य आपूर्ति नियंत्रक श्री आरके वाइकर के अलावा अन्य विभागों के अधिकारी तथा सहकारी समितियों के कर्मचारी उपस्थित थे।

बैठक में कलेक्टर ने निर्देश दिये कि सोयाबीन के अलावा उड़द, मूंग, मूंगफली, ज्वार, बाजरा तथा अन्य तेलीय फसलों के लिये भी ज्यादा से ज्यादा किसानों के पंजीयन किये जायें, पंजीयन के लिये किसानों को एसएमएस भेजे जायें। भावान्तर योजना में शासन द्वारा फसल का वाजिब मूल्य दिलाने के लिये मंडी के भाव एवं समर्थन मूल्य में अन्तर की राशि शासन द्वारा किसान को उपलब्ध कराई जायेगी। किसानों का पंजीयन सहकारी समितियों द्वारा किया जा रहा है। इस कार्य के लिये ऑपरेटरों को ट्रेनिंग दी जा रही है।

कलेक्टर ने भावान्तर योजना के क्रियान्वयन में समितियों को सभी आवश्यक तैयारियों के निर्देश दिये। इस सम्बन्ध में कम्प्यूटर, प्रिंटर, साफ-सफाई तथा अन्य तैयारियां सुनिश्चित करने को कहा। इसके साथ ही कलेक्टर ने निर्देश दिये कि सहकारी समितियों में 500 से लेकर दो हजार मैट्रिक टन के गोडाउन बनाये जाना हैं। इसके लिये भूमि की उपलब्धता सुनिश्चित की जाये। अपने एसडीएम से सम्पर्क कर भूमि आवंटन करवाया जाये। कलेक्टर ने सहकारी समिति परिसरों में स्वाईन फ्लू तथा डेंगू के विरूद्ध जन-जागृति के लिये जरूरी प्रचार-प्रसार करने के निर्देश दिये। परिसरों में सम्बन्धित फ्लेक्स, बैनर लगवाने एवं पेम्पलेट वितरण हेतु निर्देशित किया।

क्रमांक 3022                                           शकील खान (मो.नं.-9826632452)/जोशी