November 19, 2017

Latest News

प्रत्येक जनपद को एक-एक करोड़ रूपये की छात्रवृत्ति वितरण का लक्ष्य, कलेक्टर ने जनपद सीईओ एवं न.पा.अधिकारियों की बैठक ली

 

उज्जैन 14 सितम्बर। कलेक्टर श्री संकेत भोंडवे ने कहा है कि जिले में मुख्यमंत्री मजदूर सुरक्षा योजना का प्रभावी क्रियान्वयन करते हुए शेष रहे सभी मजदूरों का पंजीयन कर उन्हें कार्ड वितरित कर दिया जाये। कलेक्टर ने न केवल पंजीयन करने बल्कि पंजीयन उपरान्त दिये जाने वाले लाभ में जनपद पंचायतों द्वारा रूचि नहीं लिये जाने पर अप्रसन्नता व्यक्त की। उन्होंने प्रत्येक जनपद को मुख्यमंत्री मजदूर सुरक्षा येाजना के तहत इस वित्तीय वर्ष में एक-एक करोड़ रूपये की छात्रवृत्ति वितरण का लक्ष्य दिया है। कलेक्टर ने विभिन्न योजनाओं के क्रियान्वयन के लिये जनपद एवं नगरीय निकाय के मुख्य अधिकारियों की समीक्षा बैठक ली। बैठक में अतिरिक्त कलेक्टर श्री आशीष सागवान, डिप्टी कलेक्टर श्रीमती शैली कनास, परियोजना अधिकारी जिला पंचायत श्री व्हीके त्रिपाठी, सभी जनपदों के सीईओ एवं मुख्य नगर पालिका अधिकारी मौजूद थे।

कलेक्टर ने इसी तरह वृद्धावस्था पेंशन, सामाजिक सुरक्षा पेंशन, राष्ट्रीय परिवार सहायता योजनाओं की समीक्षा की तथा इन योजनाओं के संभावित हितग्राहियों की पहचान कर उनके प्रकरण बनाने के निर्देश नगरीय निकाय एवं जनपद पंचायतों को दिये हैं। उन्होंने कहा कि सभी जनपद पंचायतों के मुख्य कार्यपालन अधिकारियों एवं नगरीय निकाय के मुख्य नगर पालिका अधिकारियों को यह प्रमाण-पत्र देना होगा कि उनके यहां कोई भी हितग्राही सामाजिक सुरक्षा लाभ से वंचित नहीं है।

सभी दिव्यांगों के यूडीआईडी बनाने के निर्देश

कलेक्टर ने जनपदों एवं नगर पालिकाओं के मुख्य अधिकारियों को निर्देशित किया है कि उनके यहां पंजीकृत, अपंजीकृत दिव्यांगजनों के यूनिक आईडेंटिटी कार्ड सितम्बर माह में बन जाना चाहिये। इसके लिये विभिन्न जनपदों में कैम्प लगाये गये हैं। आगामी 16 सितम्बर को नागदा में भी इसी तरह का वृहद कैम्प आयोजित किया जा रहा है। इस कैम्प में नागदा, उन्हेल और महिदपुर के हितग्राहियों को लाने के निर्देश दिये गये हैं। कलेक्टर ने कहा है कि जिले में वर्तमान में केवल 6417 यूडीआईडी बने हैं, जबकि जिले में कुल पंजीकृत दिव्यांगों की संख्या 14 हजार से अधिक है।

01 लाख 48 हजार अभी भी आधार कार्ड से वंचित

कलेक्टर ने जिले में आधार पंजीयन की समीक्षा की तथा निर्देश दिये कि शत-प्रतिशत लोगों के आधार कार्ड बन जाने चाहिये। इसके लिये अस्पतालों एवं आंगनवाड़ियों में विशेष ध्यान देने को कहा गया है। बैठक में जानकारी दी गई कि जिले में कुल 20 लाख 35 हजार 927 आधार कार्ड बनाये गये हैं, जबकि जनसंख्या के हिसाब से यह संख्या 21 लाख 84 हजार 770 होना चाहिये। इस तरह जिले की कुल जनसंख्या का 93.19 प्रतिशत ही आधार कार्ड से जुड़ा हुआ है। जिले में अभी भी एक लाख 48 हजार आधार कार्ड बनना शेष हैं।

जिले में 5752 प्रधानमंत्री आवास बने

उज्जैन जिले में प्रधानमंत्री आवास योजना के तहत कुल 9930 आवास स्वीकृत किये गये हैं। इनमें से आज की स्थिति में 5752 आवास पूर्ण होकर हितग्राहियों ने इनमें निवास प्रारम्भ कर दिया है। जिले में स्वीकृत किये गये सभी आवासों की प्रथम किश्त जारी हो चुकी है, 9759 आवासों में द्वितीय किश्त जारी हो चुकी है तथा 8820 आवासों की तीसरी किश्त जारी की जा चुकी है। प्रधानमंत्री आवास निर्माण में उज्जैन जिला तेजी से आगे बढ़ रहा है एवं प्रदेश में इस योजना के क्रियान्वयन में जिला अग्रणी स्थिति में है। कलेक्टर ने सभी आवासों को दीपावली तक पूर्ण करने के निर्देश दिये हैं।

क्रमांक 3038                                            हरिशंकर शर्मा (मो.नं.-9424863313)/जोशी