October 20, 2018

Latest News

अन्तर्राष्ट्रीय कछुआ तस्कर मुर्गेसन की गिरफ्तारी पर अन्तर्राष्ट्रीय कछुआ तस्कर मुर्गेसन की गिरफ्तारी पर इन्टरपोल ने की मध्यप्रदेश (भारत) की सराहना

उज्जैन 13 फरवरी । इन्टपोल ने मोस्ट वांटेड अन्तर्राष्ट्रीय कछुआ तस्कर मुर्गेसन मनिवन्नम की गिरफ्तारी के लिये भारत (मध्यप्रदेश) की सराहना की है। इन्टरपोल द्वारा नई दिल्ली स्थित नेशनल क्राइम ब्यूरो को भेजे गये पत्र में लिखा है कि हम इसके लिये भारत को बधाई देते हैं। थाईलैंड, सिंगापुर सहित कई देशों को पिछले कई सालों से मुर्गेसन की तलाश थी।  प्रधान मुख्य वन संरक्षक (वन्य प्राणी) श्री जितेन्द्र अग्रवाल ने बताया कि इन्टरपोल ने मुर्गेसन के दूसरे देशों से संबंधित आपराधिक रिकार्ड भी साझा किये हैं। पिछले दिनों मध्यप्रदेश वन विभाग की एस.टी.एफ. टीम ने मुर्गेसन को चेन्नई से गिरफ्तार कर सागर के विशेष न्यायालय में प्रस्तुत किया था। न्यायालय ने उसकी जमानत खारिज कर दी थी। इन्टरपोल, एस.टी.एफ. वाइल्ड लाइफ क्राइम कंट्रोल ब्यूरो, यू.पी. एस.टी.एफ. आदि को लम्बे समय से मुर्गेसन की तलाश थी। दुर्लभ प्रजाति के कछुए की तस्करी में मुर्गेसन का नाम दुनिया में तीसरे नम्बर पर था। सिंगापुर के रहवासी मुर्गेसन का अवैध व्यापार सिंगापुर सहित थाईलैंड, मलेशिया, मकाऊ, हॉगकांग, चीन और मेडागास्कर में फैला हुआ है।  अन्तर्राष्ट्रीय वन्य प्राणी तस्करी के नेटवर्क को ध्वस्त करने में मुर्गेसन की गिरफ्तारी काफी महत्वपूर्ण है। मुर्गेसन को पिछली बार 27 अगस्त, 2012 को करीब 900 दुर्लभ प्रजाति के कछुओं के साथ पकड़ा गया था। पर तब वह छूटने में कामयाब हो गया था। मध्यप्रदेश एस.टी.एफ. अन्तर्राष्ट्रीय वन्य प्राणी तस्करों की धर पकड़ के कारण काफी प्रशंसा अर्जित कर रहा है।  क्रमांक 0455   पंकज मित्तल(9301209255)/ललित