February 24, 2018

Latest News

सफलता की कहानी-गेहूं के दाम 2 हजार रूपये करने पर ग्रामीण अंचलों में खुशी की लहर, किसानों ने कहा कि मुख्यमंत्री हमारे सच्चे हितैषी

 

उज्जैन 13 फरवरी। मुख्यमंत्री श्री शिवराज सिंह चौहान ने गत दिवस भोपाल में गेहूं के समर्थन मूल्य के अतिरिक्त राशि बोनस में देते हुए इसी रबी सीजन से दो हजार रूपये क्विंटल में गेहूं खरीदने की घोषणा की। यही नहीं उन्होंने चना, मसूर, सरसो व प्याज पर भावान्तर योजना लागू की है। मुख्यमंत्री ने किसानों के हित में निर्णय लेते हुए चना, मसूर व सरसो का भण्डारण लायसेंसी गोदाम में करने पर चार माह तक भण्डारण शुल्क सरकार की ओर से देने की घोषणा की है। इन सब बम्पर घोषणाओं से उज्जैन जिले के किसान गदगद हैं। उनका मानना है कि मुख्यमंत्री सच्चे रूप में किसानों के हितैषी हैं।

खाचरौद तहसील के ग्राम भैंसोला के कृषक ऋतुराज कहते हैं कि इन सब घोषणाओं से किसानों को राहत मिली है। न केवल राहत बल्कि इन घोषणाओं से किसान को लग रहा है कि उसे उसकी उपज का सही मूल्य प्राप्त होगा। ऋतुराजसिंह मुख्यमंत्री का धन्यवाद देते हुए कहते हैं कि पहले भावान्तर, फिर गेहूं के समर्थन मूल्य में बोनस की घोषणा और प्याज, चना व मसूर को मुख्यमंत्री भावान्तर योजना के तहत ले आना निश्चित रूप से श्रृंखलाबद्ध तरीके से किसानों के हित में काम करना है। वे कहते हैं कि उनके गांव में हर किसान के चेहरे पर इस घोषणा से चमक आ गई है। ऋतुराजसिंह बताते हैं कि किसान दिनरात मेहनत करता है और अपनी उपज का सही दाम चाहता है। किसी तरह के ऋण मुक्ति से किसान का फायदा नहीं होगा। उसकी फसल का यदि अच्छा दाम मिल गया तो निश्चित रूप से अपने परिवार को समाज का भला करेगा।

तराना तहसील के ग्राम सुमराखेड़ा के राकेश देवड़ा बताते हैं कि गेहूं के दाम दो हजार रूपये क्विंटल हो जाने से निश्चित रूप से किसानों को बड़ा फायदा होने जा रहा है। खेती को लाभ का धंधा बनाने की दिशा में मुख्यमंत्री का यह प्रयास किसानों को आगे ले जायेगा। उन्होंने कहा कि प्याज, चना व मसूर के भण्डारण को लेकर भी अब किसान चिन्ता नहीं करेगा। कम से कम चार महीने तो भाव आने तक अपनी फसल का भण्डारण कर ही सकेगा।

इसी तरह से तराना तहसील के श्री कमलसिंह का कहना है कि मुख्यमंत्री भावान्तर योजना प्याज पर लागू होने से किसानों को अपने प्याज फैंकना नहीं पड़ेंगे। पिछले वर्ष के अनुभव बताते हुए कहते हैं कि प्याज का उत्पादन बम्पर होने के बाद भी किसानों के हाथ कुछ नहीं आया था। वह तो भला हो मध्य प्रदेश के मुख्यमंत्री का कि उन्होंने एनवक्त पर आठ रूपये किलो में किसानों का प्याज खरीदकर किसानों को जीवनदान दिया। कमलसिंह कहते हैं कि इस बार सरकार ने अच्छी तैयारी की है। गेहूं के रेट को बढ़ा ही दिये हैं, भण्डारण के लिये भी सहायता दी जा रही है।

महिदपुर तहसील के कृषक दिनेश त्रिवेदी मुख्यमंत्री का धन्यवाद करते हुए कहते हैं कि किसानों के प्रति अच्छी सोच रखने वाले ऐसे मुख्यमंत्री भाग्य से ही मिलते हैं। मुख्यमंत्री की इस घोषणा से बाजार में भी गेहूं का अच्छा भाव मिलने की उम्मीद है। घट्टिया तहसील के कृषक श्री उदयलाल ने भी मुख्यमंत्री की घोषणाओं के प्रति संतोष व्यक्त करते हुए कहा कि सरकार किसानों का विशेष ध्यान रख रही है। इसी तरह के विचार डेलची ग्राम के श्री किशोरसिंह, भगवतपुरा के श्री मुकेश पाटीदार ने व्यक्त किये हैं।

क्रमांक 0455                                                               एचएस शर्मा/जोशी