June 25, 2018

Latest News

‘आओ साथी एक भाव के दीप जलायें, अंधकार दूर करें, ज्योति की सुन्दर राह बनायें, नवज्योति के साथ ही नववर्ष मनायें, आओ साथी दीप जलायें’, 17 मार्च को बनेगा वर्ल्ड रिकार्ड, 2 लाख 75 हजार दीप प्रज्वलित कर नूतन वर्ष का अभिनन्दन किया जायेगा, विक्रमोत्सव आयोजन समिति के अध्यक्ष डॉ.यादव ने तैयारियों के लिये बैठक ली

उज्जैन 13 मार्च। आगामी 17 मार्च को शिप्रा तट पर वर्ल्ड रिकार्ड बनाने की तैयारी की जा रही है। भारतीय नववर्ष विक्रम संवत 2075 की प्रतिपदा की पूर्व सन्ध्या पर शिप्रा तट पर दीप महोत्सव आयोजित किया जायेगा। इसमें दो लाख 75 हजार दीपों का एकसाथ प्रज्वलन कर नये वर्ष का अभिनन्दन शहरवासियों द्वारा किया जायेगा। विक्रमोत्सव आयोजन समिति के अध्यक्ष एवं विधायक डॉ.मोहन यादव ने मंगलवार को सिंहस्थ मेला कार्यालय के सभाकक्ष में इसकी तैयारियों के लिये बैठक ली। इसमें एडीएम श्री डाबर, डिप्टी कलेक्टर श्रीमती शैली कनास, अन्य प्रशासनिक अधिकारी तथा विभिन्न सामाजिक संस्थानों के प्रतिनिधि मौजूद थे।

बैठक में जानकारी दी गई कि दीप प्रज्वलन के लिये पांच हजार दीये रखने का एक गाला बनाया जायेगा और इस प्रकार कुल 60 गाले बनाये जाने की व्यवस्था शिप्रा तट पर की जायेगी, जिसमें जनप्रतिनिधि, अधिकारी और पूरे शहर की जनता दीप प्रज्वलित कर सकेगी। विश्व रिकार्ड बनाये जाने के लिये लोगों से विधिवत फार्म भी भरवाये जायेंगे और उन आंकड़ों का संकलन किया जा सकेगा। यह फार्म विक्रमादित्य शोधपीठ में उपलब्ध रहेंगे और वहीं जमा भी होंगे। फार्म में प्रविष्टिकर्ता को अपना नाम और सामान्य जानकारी भरना होगी।

डॉ.यादव ने इस हेतु सम्बन्धित विभाग के अधिकारी को घाट पर सभी आवश्यक व्यवस्थाएं सुनिश्चित करने के निर्देश दिये। घाट पर साफ-सफाई और रंग-रोगन करने के लिये भी कहा गया। बताया गया कि 14 मार्च को स्थल का निरीक्षण भी वरिष्ठ अधिकारियों द्वारा किया जायेगा तथा 15 मार्च को दीये जलाकर रिहर्सल भी की जायेगी।

डॉ.यादव ने विभिन्न सामाजिक संस्थानों, स्कूल के 11वी और 12वी कक्षा के विद्यार्थियों तथा कॉलेज के विद्यार्थियों से इसमें बढ़-चढ़कर हिस्सा लेने की अपील की है। विक्रम विश्वविद्यालय के होस्टल के विद्यार्थी भी इसमें शामिल किये जायेंगे। एनएसएस और आध्यात्मिक मण्डल तथा उज्जैन के समस्त नागरिकों को भी दीप प्रज्वलन कार्यक्रम से जुड़ने की अपील की है। इसके अलावा समाजसेवक संगठनों और आनन्दकों को भी इसके लिये प्रेरित किया जायेगा।

विक्रमादित्य शोधपीठ में दीप प्रज्वलन हेतु जिन लोगों के प्रविष्ठी फार्म जमा होंगे, उन्हें वर्ल्ड रिकार्ड में दर्ज कराने हेतु लिपिबद्ध किया जायेगा। 17 मार्च को शाम 7 बजे दो लाख 75 हजार दीपों के प्रज्वलन कर हिन्दू नववर्ष का स्वागत किया जायेगा। डॉ.मोहन यादव ने अपील की है कि यह सब नागरिकों के अमूल्य सहयोग से संभव हो सकेगा, अत: इस विराट लक्ष्य में एक दीप अपने हाथों से अवश्य प्रज्वलित करें। नागरिकों से विधायक ने अपील की है कि कृपया इस विराट दीप यज्ञ में सम्मिलित होकर उज्जैन नगर, प्रदेश और राष्ट्र का गौरव बढ़ायें।                   (फोटो संलग्न)

क्रमांक 0743                                                              अनिकेत शर्मा/जोशी