June 25, 2018

Latest News

उज्जवला योजना सफल बनाने अप्रैल, मई में चलाया जाएगा अभियान : मुख्यमंत्री श्री चौहान, मध्यप्रदेश कल्याणकारी कार्यक्रमों के सफल क्रियान्वयन की प्रयोगशाला : केन्द्रीय मंत्री श्री प्रधान

 

उज्जैन 13 मार्च। मुख्यमंत्री श्री शिवराज सिंह चौहान ने कहा है कि मध्यप्रदेश में उज्जवला योजना को सफल बनाने के लिये आगामी अप्रैल और मई माह में अभियान चलाया जायेगा। इस दौरान गरीबों को आवास और अन्य सुविधाएं उपलब्ध कराने के साथ ही उज्जवला योजना के गैस कनेक्शन भी प्राथमिकता के साथ दिये जायेंगे।

श्री चौहान ने कहा कि मध्यप्रदेश में करीब डेढ़ करोड़ असंगठित श्रमिकों के कल्याण की एकीकृत क्रियान्वयन योजना पर कार्रवाई की गई है। इसके अंतर्गत एक लाख अकुशल श्रमिकों को कुशल बनाने का कार्य किया जायेगा। तकनीकी शिक्षा, कौशल विकास और रोजगार के एकीकृत प्रयासों के लिये युवा सशक्तिकरण मिशन गठित किया गया है। इस मिशन के अंतर्गत हर वर्ष साढ़े सात लाख युवाओं का कौशल विकास करेंगे और इतने ही युवाओं को रोजगार और स्वरोजगार से जोड़ा जायेगा।

राज्य के हर जिले में प्रत्येक तीन माह में रोजगार, स्वरोजगार और कौशल विकास सम्मेलन आयोजित होते हैं। रोजगारोन्मुखी शिक्षा के प्रसार के लिये “चलें आईटीआई” अभियान चलाया जा रहा है। उद्योग और आईटीआई के बीच सेतु का निर्माण फ्लेक्सी एम.ओ.यू. योजना में किया गया है। दिव्यांगों को स्वरोजगार तथा रोजगार उपलब्ध कराने के लिये सात आईटीआई में विभिन्न ट्रेडों का प्रशिक्षण प्रारंभ किया गया है। आईटीआई की सेमेस्टर परीक्षा ऑनलाइन होती है।

केन्द्रीय मंत्री श्री धर्मेन्द्र प्रधान ने गरीबों के लिये मध्यप्रदेश में संचालित कल्याण कार्यक्रमों की सराहना करते हुए  कहा कि देश में अंत्योदय की अवधारणा  को साकार करने के सफल प्रयोगों की प्रयोगशाला मध्यप्रदेश है। उन्होंने कहा कि उज्जवला योजना का संचालन सार्वजनिक वितरण प्रणाली के समान किया जाये। दुर्गम क्षेत्रों में सिलेंडर वितरण के लिये भी स्थानीय स्तर पर नीति निर्धारण कर सकते हैं। आवश्यकता होने पर नई एजेंसी खोलने की अनुमति देने पर भी विचार किया जा सकता है। केन्द्रीय मंत्री ने कहा कि उचित मूल्य दुकान और ग्राम पंचायत में उज्जवला योजना क्रियान्वयन का बुनियादी ढांचा बनाया जाये। उन्होंने बताया कि भोपाल में पाईप लाइन से गैस वितरण का कार्य शीघ्र ही प्रारंभ होगा। श्री प्रधान ने अकुशल श्रमिकों को कुशल बनाने में केन्द्र सरकार से राशि सहयोग और प्रधानमंत्री रोजगार प्रोत्साहन योजना में अपरेंटिसशिप के लिये प्रस्ताव शीघ्र भेजने को कहा। केन्द्रीय मंत्री ने प्रदेश में कौशल विश्वविद्यालय की स्थापना की जरूरत बतायी।

क्रमांक 0742                                           पंकज मित्तल (मो.नं.-9301209255)/जोशी