October 16, 2018

Latest News

डेंगू एक गंभीर बीमारी, इसके नियंत्रण में हम सबकी भागीदारी –सांसद प्रो.मालवीय

 

राष्ट्रीय डेंगू दिवस पर सांसद ने जन-जागृति रैली को हरी झंडी दिखाकर रवाना किया

उज्जैन 16 मई। बुधवार 16 मई को राष्ट्रीय डेंगू दिवस पर उज्जैन-आलोट संसदीय क्षेत्र के लोकसभा सांसद प्रो.चिन्तामणि मालवीय ने हरी झंडी दिखाकर जन-जागृति रैली को रवाना किया। यह रैली मुख्य चिकित्सा एवं स्वास्थ्य अधिकारी कार्यालय से प्रारम्भ होकर क्षीर सागर, प्रेमछाया, चामुण्डा माता चौराहा, जिला चिकित्सालय पर समाप्त हुई। इसमें बीएससी नर्सिंग विद्यालय की छात्राओं द्वारा आमजन को डेंगू की पहचान, उसके लक्षण और उससे सावधानी बरतने के उपायों के बारे में बैनर, पोस्टर और पेम्पलेट्स के माध्यम से जानकारी दी गई। सांसद प्रो.चिन्तामणि मालवीय ने इस अवसर पर कहा कि डेंगू एक गंभीर बीमारी है और इसके नियंत्रण के लिये हम सबको एकजुट होकर प्रयास करने चाहिये।

      इस अवसर पर मुख्य चिकित्सा एवं स्वास्थ्य अधिकारी डॉ.व्हीके गुप्ता, रोगी कल्याण समिति के सदस्य श्री राजेश बोड़ाना एवं स्वास्थ्य विभाग के अन्य अधिकारी व कर्मचारी मौजूद थे। सीएमएचओ द्वारा जानकारी दी गई कि मंगलवार को राष्ट्रीय डेंगू दिवस के अवसर पर डेंगू रोग के सम्बन्ध में आम लोगों को जागरूक करने के लिये यह आयोजन किया गया है। बताया गया कि डेंगू रोग एडीस नामक मादा मच्छर के काटने से फैलता है। यह मच्छर चिकन गुनिया, पीला बुखार और जीका वायरस का भी संक्रमण करता है। डेंगू गंभीर रोग है, जो किसी भी उम्र के लोगों को प्रभावित करता है। इसके लक्षण हैं- बुखार के साथ-साथ तेज सिरदर्द, आंखों मे दर्द, जोड़ों में दर्द, उल्टी होना व त्वचा पर लाल चट्टे पड़ जाना। कई बार डेंगू रोग के कारण नाक व मसूड़े से रक्तस्त्राव भी हो जाता है। यह स्थिति बेहद गंभीर होती है, समय पर उपचार न लेने पर व्यक्ति की मृत्यु भी हो सकती है।

ऐसे फैलता है डेंगू

यह रोग मच्छरों के काटने से फैलता है, जब कभी एडीस मच्छर डेंगू के रोगी को काटता है तो वह खून के साथ डेंगू वायरस को भी चूसता है। यह वायरस मच्छर के शरीर मे विकसित होता है व बाद में दूसरे व्यक्ति को काटने से उसमें डेंगू का संक्रमण हो जाता है। बारिश के मौसम मे इनकी संख्या बढ़ जाती है।

ये सावधानियां रखें

डेंगू रोग से बचने के लिये घर के आसपास साफ-सफाई रखें, मच्छरों को रोकने के लिये पानी की टंकियों को ढंककर रखें, कूलर एवं बर्तनों में रखे पानी को समय-समय पर बदलें, ताकि इनमें लार्वा न फैल सके। प्रायः स्वच्छ पानी के स्त्रोतों में एडीस मच्छर का लार्वा पनपता है। सोते समय मच्छरदानी का प्रयोग अवश्य करें। समस्त शासकीय अस्पतालों मे डेंगू रोग की निःशुल्क जांच एवं उपचार सुविधा उपलब्ध है।                                                          (फोटो संलग्न)

क्रमांक 1436                                                            अनिकेत शर्मा/जोशी