October 16, 2018

Latest News

प्रभारी मंत्री ने 5 करोड़ 79 लाख रूपये की लागत से बने महिला आईटीआई के भवन एवं बालक छात्रावास का उद्घाटन किया

उज्जैन 16 मई। शासकीय महिला आईटीआई के नवीन भवन एवं बालक छात्रावास भवन का उद्घाटन 16 मई को जिले के प्रभारी एवं गृह तथा परिवहन मंत्री श्री भूपेन्द्र सिंह ने किया। 72 सीटर बालक छात्रावास का निर्माण 1 करोड़ 79 लाख रूपये की लागत से एवं महिला आईटीआई भवन का निर्माण 4 करोड़ रूपये की लागत से किया गया है। उद्घाटन अवसर पर प्रभारी मंत्री श्री भूपेन्द्रसिंह ने कहा कि आईटीआई भवन बनने से सभी छात्राओं को अच्छी सुविधा मिल सकेगी। उन्होंने कहा कि सम्पूर्ण देश में युवाओं के भविष्य निर्माण को लेकर देश के प्रधानमंत्री एवं प्रदेश में मुख्यमंत्री निरन्तर प्रयास कर रहे हैं।

प्रभारी मंत्री श्री भूपेन्द्रसिंह ने कहा कि हमारे प्रधानमंत्री देश के युवाओं के भविष्य निर्माण के लिये दृढ़ संकल्पित है। प्रधानमंत्री का मानना है कि नये भारत का निर्माण युवाओं के बिना संभव नहीं है। इसीलिये उन्होंने देश में डिजिटल इण्डिया, मेक इन इण्डिया और स्कील इण्डिया योजनाएं क्रियान्वित की हैं। उन्होंने कहा कि हमारे युवा विदेशी कंपनियों में बड़े पदों पर काम कर रहे हैं। श्री भूपेन्द्रसिंह ने कहा कि कौशल विकास के लिये प्रदेश सरकार प्रतिवर्ष 1500 करोड़ रूपये का व्यय कर रही है। भोपाल में ग्लोबल कौशल सेन्टर का निर्माण 632 करोड़ रूपये की लागत से किया जा रहा है। उन्होंने उज्जैन आईटीआई की प्रशंसा करते हुए कहा कि यहां के छात्रों को शत-प्रतिशत प्लेसमेंट मिलना प्रशंसा की बात है। प्रभारी मंत्री ने प्रदेश सरकार द्वारा चलाई जा रही मेधावी छात्र योजना का भी जिक्र किया और छात्रों से आग्रह किया कि वे अच्छे नम्बरों से पास होकर इस योजना का लाभ उठायें। गृह मंत्री ने कहा किप्रदेश सरकार बिना वर्ग एवं जाति के भेदभाव के छात्रों को डॉक्टर, इंजीनियर बनने के लिये आर्थिक सहायता उपलब्ध करा रही है।

उद्घाटन समारोह में सांसद डॉ.चिन्तामणि मालवीय ने कहा कि मोदी सरकार के आने के पूर्व कौशल विकास का कार्य ठप पड़ा था। प्रधानमंत्री ने मेक इन इण्डिया का नारा दिया और इसके लिये आवश्यक धनराशि की व्यवस्था की। मेक इन इण्डिया का नारा तभी सफल होगा, जब कौशल विकास का कार्य अच्छी तरह से किया जायेगा। उन्होंने कहा कि हमारी 64 प्रतिशत आबादी 25 से 49 आयुवर्ग के बीच की है। देश को सक्षम एवं समर्थ बनाने के लिये दक्ष होना अतिआवश्यक है।

स्वागत भाषण देते हुए विधायक डॉ.मोहन यादव ने कहा कि महिला आईटीआई को 30 वर्ष बाद स्वयं का भवन मिला है। मुख्यमंत्री द्वारा दी गई यह सौगात निश्चित रूप से छात्राओं के मन में खुशियां भर देगी। उन्होंने कहा कि उज्जैन दक्षिण विधानसभा में हर शैक्षणिक संस्था का अपना शासकीय भवन है। विधायक ने शासकीय हाईस्कूल नलवा का उदाहरण देते हुए बताया कि यहां पर लगातार शत-प्रतिशत परिणाम लाने वाले शिक्षक कार्यरत हैं। उन्होंने कहा कि 4 करोड़ की लागत के आईटीआई भवन एवं 2 करोड़ की लागत के छात्रावास का निर्माण कर उज्जैन आईटीआई को और मजबूती प्रदान की गई है।

कार्यक्रम में संयुक्त संचालक कौशल विकास श्री सुनील चौधरी ने उज्जैन संभाग में कौशल विकास के लिये की जा रही गतिविधियों की जानकारी दी तथा बताया कि उज्जैन आईटीआई में अन्य प्रदेशों के छात्र भी पढ़ने में इच्छुक रहते हैं। उद्घाटन समारोह में विधायक श्री अनिल फिरोजिया, यूडीए अध्यक्ष श्री जगदीश अग्रवाल, पूर्व विधायक श्री शिवा कोटवानी, फार्मेसी काउंसिल के श्री ओम जैन, श्री इकबालसिंह गांधी, श्री रूप पमनानी, आईटीआई के प्राचार्य श्री सुनील ललावत एवं श्री जीडी वाधवानी मौजूद थे। अन्त में आभार प्राचार्य श्री जीडी वाधवानी ने प्रकट किया।                     (फोटो संलग्न)

क्रमांक 1447                                                              एचएस शर्मा/जोशी