October 20, 2018

Latest News

समर्थन मूल्य पर 31 हजार 880 मै.टन चना खरीदा गया

 

उज्जैन 17 मई। राज्य शासन द्वारा समर्थन मूल्य पर खरीदी योजना के अन्तर्गत चना, मसूर, सरसों को तथा भावान्तर में लहसुन तथा प्याज की फसल को शामिल किया गया है। योजना के तहत किसानों को लाभान्वित करने के लिये उपार्जन केन्द्रों एवं कृषि उपज मंडियों में ऑनलाइन किसानों का पंजीयन कराया गया है। पंजीकृत किसानों को एसएमएस के माध्यम से सूचना देकर चना, मसूर एवं सरसों की फसल को निर्धारित समर्थन मूल्य पर जिले में खरीदी की जा रही है। लहसुन एवं प्याज की फसलों को भावान्तर भुगतान योजना का लाभ दिया जायेगा। जिले में अभी तक समर्थन मूल्य पर 31 हजार 880 मैट्रिक टन चना खरीदा गया है। इसी प्रकार 683 मैट्रिक टन सरसों और 1722 मैट्रिक टन मसूर, उपार्जित की गई है।

खाद्य विभाग के खाद्य नियंत्रक श्री आरके वाइकर ने यह जानकारी देते हुए बताया कि उज्जैन जिले में चना, सरसों, मसूर जिंस के लिये 20-20 खरीदी केन्द्र के माध्यम से समर्थन मूल्य पर उपार्जन किया जा रहा है। अभी तक 15 हजार 918 किसानों से 31 हजार 880 मैट्रिक टन चना खरीदा गया है, जिसका शुद्ध भुगतान 134.22 करोड़ रूपये है। अभी तक 83.09 करोड़ रूपये किसानों को भुगतान कर दिया गया है। चने का समर्थन मूल्य 4400 रूपये और कृषक समृद्धि योजना के तहत 100 रूपये बोनस इस प्रकार 4500 रूपये है। इसी तरह सरसों 452 किसानों से 683 मैट्रिक टन खरीदा गया है। इसका शुद्ध भुगतान 2.73 करोड़ है। इसमें से अभी तक 1.97 करोड़ रूपये किसानों को भुगतान कर दिया गया है। सरसों का समर्थन मूल्य 4000 रूपये और कृषि समृद्धि योजना के तहत 100 रूपये बोनस राशि इस प्रकार 4100 रूपये है। मसूर जिंस 1467 किसानों से 1722 मैट्रिक टन अभी तक खरीदा गया है। इसका शुद्ध भुगतान 7.32 करोड़ है। इसमें से अभी तक किसानों को 4.92 करोड़ रूपये का भुगतान कर दिया गया है। इस जिंस का समर्थन मूल्य 4250 और 100 रूपये बोनस इस प्रकार 4350 रूपये है।

क्रमांक 1451                                                           एसके उज्जैनिया/जोशी