September 21, 2018

Latest News

गरीबों के जीवन में नया सवेरा लाकर इतिहास रचा, श्रमिकों की सुरक्षा और सम्मान की इससे बढ़िया और क्या बात है- ऊर्जा मंत्री, मुख्यमंत्री जनकल्याण संबल योजना के तहत नगरीय निकायों में हितलाभ वितरण कार्यक्रम आयोजित

उज्जैन 13 जून। मध्य प्रदेश शासन का अभियान, श्रमिकों को सुरक्षा और सम्मान। मुख्यमंत्री जनकल्याण संबल योजना के अन्तर्गत उज्जैन नगर निगम द्वारा नृसिंह घाट ब्रिज के समीप श्री बालमुकुन्द आश्रम (झालरिया मठ) में असंगठित श्रमिकों के हितलाभ वितरण कार्यक्रम सम्पन्न हुआ। इस अवसर पर ऊर्जा मंत्री श्री पारस जैन ने कहा कि मध्य प्रदेश शासन ने गरीबों के जीवन में नया सवेरा लाकर इतिहास रचा है। राज्य सरकार के द्वारा श्रमिकों की सुरक्षा और सम्मान की इससे बढ़िया और क्या बात हो सकती है। मुख्यमंत्री जनकल्याण संबल योजना इसका एक श्रेष्ठ उदाहरण है।

ऊर्जा मंत्री श्री पारस जैन ने शासन की विभिन्न जनकल्याणकारी योजनाओं के साथ मुख्यमंत्री जनकल्याण संबल योजना और ऊर्जा विभाग की सरल बिजली बिल योजना का जिक्र करते हुए कहा कि पात्र परिवारों को बिना कनेक्शन प्रभार लिये नि:शुल्क कनेक्शन की सुविधा दी जा रही है। पात्र उपभोक्ताओं को मासिक बिल अब मात्र 200 रूपये प्रतिमाह देना होगा। यदि 200 रूपये से कम का बिल होता है तो उतनी ही राशि का भुगतान करना होगा और 200 रूपये होता है तो अन्तर की राशि राज्य सरकार द्वारा सब्सिडी के रूप में उपभोक्ताओं को दी जायेगी। शासन द्वारा प्रदाय की जाने वाली अनुमानित सब्सिडी एक हजार करोड़ रूपये है और इस योजना में 88 लाख उपभोक्ता लाभान्वित होंगे। सरल बिजली बिल योजना एक जुलाई से प्रारम्भ होगी। एयर कंडिशनर एवं एक हजार वॉट से अधिक के उपभोक्ता इस योजना में अपात्र होंगे। राज्य शासन ने असंगठित श्रमिकों एवं गरीबों के 5,179 करोड़ रूपये के बकाया बिजली के बिल माफ करेगी। इस योजना में पंजीकृत असंगठित श्रमिक एवं बीपीएल उपभोक्ता पात्र होंगे।

सांसद प्रो.चिन्तामणि मालवीय ने इस अवसर पर कहा कि प्रदेश के मुख्यमंत्री श्री शिवराज सिंह चौहान ने समाज के प्रत्येक वर्ग के लिये विभिन्न जनकल्याणकारी योजनाएं लागू कर तुरन्त उन्हें क्रियान्वित भी किया है। मुख्यमंत्री जनकल्याण सम्बल योजना एक सपने जैसी ही है, जिसे मुख्यमंत्री ने सच कर दिखाया है। मुख्यमंत्री ने प्रदेश में हर वर्ग के साथ-साथ असंगठित श्रमिकों की भी सुध ली है। जन्म से लेकर मृत्यु तक की एक से एक नई-नई योजनाएं लागू कर पात्र हितग्राहियों को लाभ पहुंचाने का कार्य प्रदेश सरकार कर रही है। योजनाओं के सफल क्रियान्वयन में सरकार द्वारा किसी भी प्रकार का कोई भेदभाव नहीं कर सभी वर्गों के पात्र हितग्राहियों को लाभ दिलाने का कार्य किया जा रहा है। कम समय में योजना बनाकर प्रदेश में लागू कर उसका क्रियान्वयन किया जा रहा है।

विधायक डॉ.मोहन यादव ने कहा कि असंगठित श्रमिकों के लिये मुख्यमंत्री जनकल्याण संबल योजना श्रमिकों के लिये एक शानदार योजना है। इस योजना से मजदूरों को लाभ मिलेगा। प्रदेश के पांच करोड़ लोगों का पंजीयन कर हितलाभ देने का काम सरकार ने किया है। महापौर श्रीमती मीना जोनवाल ने भी इस अवसर पर अपने उद्बोधन में कहा कि शासन की इस नई योजना से गरीब लाभान्वित होंगे। सरकार का नारा ‘सबका साथ सबका विकास’ सार्थक हो रहा है। शासकीय कार्यों में थोड़ा समय लगता है इसलिए हितग्राही थोड़ा धैर्य रखें और बिचौलियों से सावधान रहें। यदि कोई शासन की योजनाओं का लाभ दिलवाने के लिए पैसों की मांग करता है तो सीधे उसकी शिकायत करें। हितग्राही को एक रूपया भी किसी को देने की जरूरत नहीं है।  अपने हक के एक-एक पैसे का इस्तेमाल आप स्वयं करें। कार्यक्रम के प्रारम्भ में नगर निगम सभापति श्री सोनू गेहलोत ने स्वागत भाषण दिया।

नगर निगम उज्जैन द्वारा आयोजित मुख्यमंत्री जनकल्याण संबल योजना में नगर निगम क्षेत्र के लगभग 1822 हितग्राहियों को विभिन्न योजनाओं में लाभान्वित किया गया। कार्यक्रम में प्रतीकात्मक रूप से अतिथियों के द्वारा 54 हितग्राहियों को लाभान्वित कर उन्हें हितलाभ वितरण किया गया। जिन हितग्राहियों को लाभान्वित किया गया, उनमें अनुग्रह सहायता के नौ, ई-रिक्शा के तीन, स्वरोजगार योजना अन्तर्गत तीन हितग्राहियों को ऋण, छह हितग्राहियों को पट्टा वितरण, 10 हितग्राहियों को प्रधानमंत्री आवास योजना, तीन हितग्राहियों को राष्ट्रीय परिवार सहायता आदि अन्य योजनाओं में हितग्राहियों को प्रतीकात्मक रूप से अतिथियों के हाथों हितलाभ वितरित किये गये।

उल्लेखनीय है कि मुख्यमंत्री जनकल्याण संबल योजना में असंगठित श्रमिकों को अन्त्येष्टि सहायता, अनुग्रह सहायता, प्रसूति सहायता, ई-रिक्शा, स्वरोजगार योजना के अन्तर्गत ऋण, पट्टा वितरण, प्रधानमंत्री आवास योजना, राष्ट्रीय परिवार सहायता, मुख्यमंत्री पिछड़ा वर्ग एवं अल्पसंख्यक कल्याण योजना, पंजीकृत कर्मकारों को परिचय-पत्र वितरण, सामाजिक सुरक्षा, नि:शक्त पेंशन योजना, इंदिरा गांधी राष्ट्रीय विधवा पेंशन योजना, सामाजिक सुरक्षा परित्यक्ता योजना, मुख्यमंत्री सामाजिक सुरक्षा कल्याणी पेंशन योजना, बहुविकलांगों को आर्थिक सहायता, इंदिरा गांधी वृद्धावस्था पेंशन योजना, दिव्यांग शिक्षा प्रोत्साहन, उज्ज्वला योजना, लाड़ली लक्ष्मी योजना आदि योजनाओं का लाभ दिया जायेगा।

कार्यक्रम के प्रारम्भ में अतिथियों ने पं.दीनदयाल उपाध्याय के चित्र पर माल्यार्पण कर कार्यक्रम की शुरूआत की। हितलाभ वितरण के पूर्व मुख्यमंत्री श्री शिवराज सिंह चौहान का भोपाल से भाषण का सीधा प्रसारण सुना गया। इस अवसर पर कृषि उपज मंडी समिति के अध्यक्ष श्री बहादुरसिंह बोरमुंडला, यूडीए अध्यक्ष श्री जगदीश अग्रवाल, फार्मेसी काउंसिल के अध्यक्ष श्री ओम जैन, श्री इकबालसिंह गांधी, कलेक्टर श्री मनीष सिंह, नगर निगम आयुक्त सुश्री प्रतिभा पाल, क्षेत्रीय पार्षद श्रीमती लीला वर्मा, माटी कला बोर्ड के पूर्व अध्यक्ष श्री अशोक प्रजापत, श्री किशोर खंडेलवाल, श्री राधेश्याम वर्मा, श्री हेमन्त व्यास, श्री मांगीलाल कड़ेल, श्रीमती योगेश्वरी राठौर, श्रीमती दुर्गा चौधरी, श्री बुद्धिप्रकाश सोनी, श्री सत्यनारायण चौहान, सुश्री विनीता शर्मा, श्रीमती कलावती यादव आदि जनप्रतिनिधि एवं बड़ी संख्या में आमजन व हितग्राही उपस्थित थे। कार्यक्रम के प्रारम्भ में कला पथक दल के कलाकारों ने मप्र गान प्रस्तुत किया।

फोटो संलग्न क्र.1-10 तक.

क्रमांक 1646                                                    एसके उज्जैनिया/अनिकेत/जोशी