June 25, 2018

Latest News

आँधी-तूफान के दौरान नागरिक बिजली सुरक्षा पर विशेष ध्यान दें

 

उज्जैन 14 जून। पश्चिम क्षेत्र विद्युत वितरण कम्पनी ने नागरिकों से अपील की है कि आँधी-तूफान, वर्षा या अन्य किसी कारण से बिजली की लाइनों के टूटने पर उसे न छुएँ और जल्द ही इसकी सूचना निकटतम बिजली कम्पनी के दफ्तर को दें। बिजली संबंधी जरा-सी असावधानी या छेड़खानी से बड़े-बड़े खतरे पैदा हो सकते हैं।

नागरिकों को सलाह दी गई है कि खेतों-खलिहानों में ऊँची-ऊँची घास की गंजी, कटी फसल की ढेरियाँ और झोपड़ी को बिजली लाइन के नीचे अथवा पास में न बनायें। बिजली-लाइनों के नीचे से अनाज, भूसे की ऊँची भरी हुई गाड़ियाँ न निकालें, इससे आग लगने का खतरा है। बिजली के खंबों पर कभी न चढ़ें एवं वायर सहित अन्य विद्युत उपकरणों से छेड़खानी न करें। बिजली के खंबों या स्टे वायर से जानवर न बाँधें। घरों में भी बिजली से सावधानियाँ बरतें और बिजली के तार सुव्यवस्थित ढंग से लगायें। बिजली उपकरणों और बिजली तारों में खराबी आने पर खुद सुधारने की कोशिश न करें। बिजली का फ्यूज सुधारने के लिये किसी जानकार की ही सहायता लें।

यह भी ध्यान में रखें कि घरेलू उपकरणों एवं फिटिंग का अर्थिंग न होने से दुर्घटना हो सकती है। वहीं बच्चों पर विशेष ध्यान दें। बच्चे पतंग उड़ाते समय धागे और डोर विद्युत-लाइनों में फंसा देते हैं। लाइनों में फंसी पतंग निकालने के लिये बच्चों को खंबों पर न चढ़ने दें।

दुर्घटनावश अगर कोई व्यक्ति चालू लाइन के तारों के सम्पर्क में आता है तो सबसे पहले स्विच से विद्युत प्रवाह बंद कर दें। स्विच बंद न कर सकें तो दुर्घटनाग्रस्त व्यक्ति को सूखी रस्सी या सूखी लकड़ी की सहायता से तारों से अलग करें, जिसके बाद सूखी जमीन पर लिटायें एवं कृत्रिम साँस देकर प्राथमिक उपचार करें।

क्रमांक 1648B                                                               एचएस शर्मा/जोशी