September 21, 2018

Latest News

कल्याणकारी शिव की नगरी में कल्याण का संकल्प, केन्द्रीय सामाजिक न्याय मंत्री श्री गेहलोत ने शिप्रा किनारे त्रिवेणी रोपण किया

     उज्जैन 14 जुलाई। केन्द्रीय सामाजिक न्याय एवं अधिकारिता मंत्री एवं अन्य जनप्रतिनिधियों ने होटल मित्तल एवेन्यू के पीछे शिप्रा नदी किनारे कल्याणकारी शिव की नगरी में कल्याण का संकल्प लेकर त्रिवेणी रोपण (नीम, पीपल तथा बरगद) किया। केन्द्रीय मंत्री श्री गेहलोत ने नगर पालिक निगम एवं वन विभाग द्वारा आयोजित अमृत मिशन के हरित क्षेत्र विकास घटक अन्तर्गत शिप्रा हरितिमा प्रोजेक्ट का शुभारम्भ किया। इस अवसर पर प्रदेश की नगरीय विकास एवं आवास मंत्री श्रीमती माया सिंह, नवीन एवं नवकरणीय ऊर्जा मंत्री श्री नारायणसिंह कुशवाह, विधायक श्री दिलीपसिंह शेखावत, पूर्व मंत्री श्रीमती रंजना बघेल, महापौर श्रीमती मीना जोनवाल, श्री इकबालसिंह गांधी, नगर निगम अध्यक्ष श्री सोनू गेहलोत, मुख्य वन संरक्षक श्री बीआर अन्नागिरी, वन मण्डलाधिकारी श्री पीएन मिश्रा और   श्री जीपी मिश्रा, गणमान्य जनप्रतिनिधि, अधिकारी वृक्षारोपण के कार्यक्रम में उपस्थित थे।

      शिप्रा नदी के संरक्षण एवं शुद्धीकरण हेतु शिप्रा किनारे मिट्टी के कटाव रोकने के लिये नदी के किनारे 200-200 मीटर तक के क्षेत्र में सघन वृक्षारोपण का कार्य किया जा रहा है। इसके प्रथम चरण में शिप्रा नदी के दोनों किनारों पर 30-30 मीटर तक के क्षेत्र में सघन वृक्षारोपण किया जायेगा। द्वितीय चरण में 200-200 मीटर तक के क्षेत्र में यह कार्य किया जायेगा। वन विभाग द्वारा प्रथम चरण में शिप्रा नदी के दोनों किनारों पर 30-30 मीटर की चौड़ाई में वृक्षारोपण किया जायेगा। वन विभाग द्वारा नीम, पीपल, बरगद, जामुन, गुलर, आम, बेलपत्र, रूद्राक्ष, शीशम, कचनार, करंज, आदि किस्म के पौधे लगाने का काम किया जा रहा है।

      कार्यक्रम में विभिन्न सामाजिक संस्थाओं एवं स्वयंसेवी संस्थाओं के पदाधिकारियों द्वारा पौधारोपण किया गया। इनमें मार्वेल इंग्लिश अकेडमी ग्रुप, श्री लायन्स क्लब, महिला परिषद, रूपान्तरण संस्था, एक्चुवर्स संस्था, गायत्री परिवार, क्षत्रिय महासभा महिला प्रकोष्ठ, दिगंबर जैन सोशल ग्रुप, जैन सोशल ग्रुप, पर्यावरण संरक्षण समिति, शासकीय उत्कृष्ट विद्यालय इको क्लब, सनाढ्य ब्राह्मण हितकारी सभा आदि संस्थाओं के पदाधिकारियों ने भाग लिया।                     (फोटो संलग्न)

क्रमांक 2031                                                                                                             एसके उज्जैनिया/जोशी