August 16, 2018

Latest News

अपनी-अपनी विभागीय योजनाओं की रैंकिंग बताएं, संभागायुक्त ने संभागीय समीक्षा बैठक में दिए निर्देश

उज्जैन 24 जुलाई। सभी विभाग उज्जैन संभाग के सभी जिलों में अपनी-अपनी विभागीय योजनाओं की प्रदेश में रैंकिंग क्या है, इसकी जानकारी दें। यदि किसी योजना में जिला पिछड़ रहा है, तो उसका कारण बताएं। सभी योजनाओं में शासन द्वारा दिए गए लक्ष्यों एवं निर्देशों के अनुरूप पात्र हितग्राहियों को लाभान्वित किया जाये। स्वरोजगार योजनाओं के अधिक से अधिक प्रकरण बनाए जाएं, आगामी 4 अगस्त को होने वाले कार्यक्रम में इनके स्वीकृति-पत्र वितरित किए जाने हैं।

संभागायुक्त श्री एमबी ओझा ने आज मंगलवार को संभागीय अधिकारियों की साप्ताहिक समीक्षा बैठक में अधिकारियों को निर्देश दिए। बैठक में संयुक्त आयुक्त विकास श्री प्रतीक सोनवलकर, उपायुक्त श्री पवन जैन सहित सभी विभागों के संभागीय अधिकारी उपस्थित थे।

प्रसूति सहायता में 2624 को लाभ

संबल योजना की समीक्षा के दौरान पाया गया कि उज्जैन संभाग के अन्य जिलों की तरह अब उज्जैन जिले में भी योजना के क्रियान्वयन की गति बढ़ रही है। योजना अन्तर्गत प्रसूति सहायता, अन्त्येष्टि सहायता, अनुग्रह राशि सहायता आदि सभी में असंगठित श्रमिकों को लाभ दिया जा रहा है। प्रसूति सहायता योजना में उज्जैन जिले में 2624 हितग्राहियों को लाभ दिया गया है, वहीं रतलाम जिले में 2536 हितग्राहियों को लाभान्वित किया गया है।

भावान्तर के भुगतान से 14 किसान शेष

बैठक में भावान्तर योजना की समीक्षा में पाया गया कि संभाग के सभी जिलों में सभी किसानों को भावान्तर की राशि का भुगतान हो चुका है, केवल देवास जिले के 14 किसान भुगतान प्राप्ति से शेष हैं, जिसका कारण उनका मोबाइल नम्बर नहीं मिलना है। संभागायुक्त ने निर्देश दिए कि इनके विवरण प्राप्त कर इन्हें भी भावान्तर की राशि का भुगतान किया जाये। समर्थन मूल्य गेहूं खरीदी के विषय में बताया गया कि संभाग के सभी किसानों को इसका भुगतान हो गया है।

सरल बिजली योजना के 4500 शिविर लगे

सरल बिजली योजना के संभाग में क्रियान्वयन के विषय में बिजली विभाग के अधिकारी ने बताया कि संभाग के सभी जिलों में अभी तक कुल 4500 शिविर लगाए जाकर पात्र व्यक्तियों को इसका लाभ दिया गया है, साथ ही बकाया माफी योजना के अन्तर्गत उनके बिजली के बिल माफ किए गए हैं। संभागायुक्त ने सभी पात्र व्यक्तियों को इस योजना का लाभ दिए जाने के निर्देश बिजली विभाग को दिए।

देवास जिले में नहीं हुआ कार्य

वनवासियों को वनाधिकार पट्टों के वितरण के सम्बन्ध में प्राप्त दावों के निराकरण में देवास जिले में कार्य नहीं होना पाया गया। संभागायुक्त ने आदिम जाति कल्याण विभाग के संभागीय अधिकारी को निर्देश दिए कि वे स्वयं जाकर प्रकरणों का निराकरण कराएं। साथ ही यह भी सुनिश्चित करें कि संभाग के किसी भी जिले में वनाधिकार का कोई भी प्रकरण लम्बित न रहे।

सभी दिव्यांगों के बनें आधार कार्ड

संभागायुक्त ने निर्देश दिए कि संभाग के सभी जिलों में सभी दिव्यांग व्यक्तियों के आधार कार्ड बनने चाहिए। साथ ही उनके दिव्यांगता प्रमाण-पत्र भी अनिवार्य रूप से बन जाएं। शिक्षा विभाग को निदे्रश दिए गए कि शिक्षा का अधिकार कानून के अन्तर्गत बच्चों के प्रवेश निजी विद्यालयों में सुनिश्चित किए जाएं। आगामी 7 अगस्त को आयोजित होने वाले मिल बांचे मप्र कार्यक्रम के सम्बन्ध में भी तैयारियां करें।

टीकाकरण की गति धीमी

संभागायुक्त श्री ओझा ने संयुक्त संचालक स्वास्थ्य को निर्देश दिए कि संभाग के सभी जिलों में 90 प्रतिशत एवं अधिक टीकाकरण होना चाहिये। उज्जैन संभाग में इसकी प्रगति धीमी है, क्योंकि यहां अभी तक 78 प्रतिशत बच्चों का टीकाकरण हुआ है। संभागायुक्त ने निर्देश दिए कि हर जिले में डायलिसिस एवं ट्रॉमा मशीन चालू कराई जाए। जिला अस्पतालों में सिटी स्कैन की व्यवस्था के सम्बन्ध में भी कार्रवाई की जाए। महिला एवं बाल विकास विभाग को बच्चों में कुपोषण दूर किए जाने के प्रभावी प्रयास करने के निर्देश दिए गए।

कितने लगे, कितने सूखे?

संभागायुक्त ने वन विभाग एवं अन्य विभागों से पूछा कि गत वर्ष हुए वृक्षारोपण के उपरान्त कितने पौधे लग गए हैं तथा कितने सूख गए हैं। बताया गया कि 50 प्रतिशत से भी कम पौधे जीवित हैं। इस पर संभागायुक्त ने निर्देश दिए कि पौधों को रोपित किए जाने के बाद उनकी सही देखभाल की जानी चाहिए, जिससे कि अधिक से अधिक पौधे जीवित रहें।

सड़कों पर जानवर, दुर्घटना की संभावना

बेठक में बताया गया कि वर्षा ऋतु में सभी जिलों में बहुत से जानवर सड़कों पर आवारा घूम रहे हैं, जिसके कारण हर समय दुर्घटना का खतरा बना रहता है। इस पर संभागायुक्त ने निर्देश दिए कि जो व्यक्ति अपने जानवरों को सड़क पर छोड़ता है, उसके विरूद्ध कार्रवाई की जाए। साथ ही आवारा जानवरों को पकड़कर उपयुक्त स्थान पर छोड़ा जाए।

गत वर्ष से अधिक भरा गंभीर डैम

संभाग में वर्षा की स्थिति के सम्बन्ध में बताया गया कि गत वर्ष 23 जुलाई तक संभाग में 347 इंच औसत वर्षा हुई थी, जबकि इस वर्ष अभी तक लगभग 445 इंच औसत वर्षा हो चुकी है। गंभीर डैम में गत वर्ष इसी अवधि में भरे पानी से आज दिनांक तक अधिक पानी 1237 एमसीएफटी पानी भर गया है। गांधी सागर डैम्‍ में 22 प्रतिशत पानी का भराव है, वहीं धोलावड़ डैम में 35 प्रतिशत पानी भर गया है। संभाग के सभी जिलों में बारिश की स्थिति अच्छी है तथा अभी तक कहीं भी बाढ़ की स्थिति भी नहीं है।

7 को होगी परख वीसी

बैठक में बताया गया कि मुख्य सचिव की परख वीसी आगामी 7 अगस्त को आयोजित होगी। संभागायुक्त ने निर्दश दिए कि सभी विभाग पूरी तैयारी से आएं। उन्होंने निर्देश दिए कि निर्माण विभाग अभी तक स्वीकृत एवं अप्रारम्भ कार्यों तथा अपूर्ण कार्यों की पूरी जानकारी उपलब्ध कराएं। संभागायुक्त ने निर्देश दिए कि मुख्यमंत्रीजी के जिलों में प्रवास के दौरान सभी विभाग आवश्यक तैयारी के साथ उनके कार्यक्रमों में रहें।

दिव्यांग पुनर्वास केन्द्र के लिए जमीन दें

संभागायुक्त ने निर्देश दिए कि सभी जिलों में बनाए जाने वाले जिला विकलांग पुनर्वास केन्द्र के लिए जमीन उपलब्ध कराई जाए। शासन के निर्देश अनुसार जिला अस्पताल के पास ही ये केन्द्र बनाए जाने हैं। सम्बन्धित विभागीय अधिकारियों द्वारा बताया गया कि प्रत्येक विकलांग पुनर्वास केन्द्र के निर्माण के लिए 3-3 करोड़ रूपये की राशि आ चुकी है।                                         (फोटो संलग्न)

क्रमांक 2126                                                                                                            पंकज मित्तल/जोशी