August 16, 2018

Latest News

“सफलता 1 दिन में नहीं मिलती, लेकिन निरन्तर प्रयास करें तो 1 दिन जरूर मिलती है”, प्रतियोगिता में भाग लेने से पहले भगवान महाकाल के दर्शन करें खिलाड़ी -ऊर्जा मंत्री श्री जैन,मंत्री श्री जैन ने 64वी राज्य स्तरीय शालेय क्रीड़ा प्रतियोगिता का शुभारम्भ किया,अगले 5 दिनों तक होंगी विभिन्न प्रतियोगिताएं,प्रदेशभर से आये खिलाड़ी दिखायेंगे अपनी प्रतिभा

उज्जैन 25 जुलाई। प्रदेश के ऊर्जा मंत्री श्री पारस जैन ने बुधवार को भारत माता मन्दिर के पास स्थित माधव सेवा न्यास भवन में 64वी राज्य स्तरीय शालेय क्रीड़ा प्रतियोगिता का शुभारम्भ किया। उल्लेखनीय है कि उज्जैन में यह राज्य स्तरीय प्रतियोगिता पहली बार आयोजित की जा रही है। उद्घाटन समारोह के मुख्य अतिथि ऊर्जा मंत्री श्री जैन ने मंच से प्रदेशभर से आये खिलाड़ियों से अपील की कि वे प्रतियोगिता में भाग लेने से पहले भगवान महाकाल के दर्शन करें और अपने उज्ज्वल भविष्य के लिये भगवान महाकाल का आशीर्वाद लें। गौरतलब है कि इस राज्य स्तरीय प्रतियोगिता के अन्तर्गत अगले 5 दिन शहर में जिमनास्टिक, वूशू और किक बॉक्सिंग की प्रतियोगिता आयोजित की जायेगी। इसमें 14, 17 और 19 वर्ष आयु समूह के बालक-बालिकाएं भाग लेंगे।

इस प्रतियोगिता में शामिल होने के लिये प्रदेश के सभी संभागों से खिलाड़ी आ चुके हैं। उद्घाटन समारोह में उज्जैन दक्षिण के विधायक डॉ.मोहन यादव, श्री ओम जैन एवं अन्य गणमान्य नागरिक मौजूद थे। स्कूल शिक्षा के सहायक संचालक ने अतिथियों को पुस्तक भेंट कर स्वागत किया। स्वागत भाषण श्री अभय तोमर द्वारा दिया गया। शासकीय उत्कृष्ट माध्यमिक विद्यालय की छात्राओं द्वारा “पधारो म्हारे देश” पर आकर्षक नृत्य प्रस्तुत किया गया।

जिला क्रीड़ा अधिकारी श्री अरविन्द जोशी ने प्रतियोगिता की रूपरेखा बताते हुए कहा कि यह प्रतियोगिता उज्जैन में पहली बार स्कूल शिक्षा विभाग द्वारा आयोजित की जा रही है। यह अत्यन्त हर्ष का विषय है कि इसमें पूरे प्रदेश विभिन्न संभागों  से 477 बालक और 416 बालिकाएं आये हैं। इसके अलावा खिलाड़ियों के साथ 200 कोच और अधिकारियों का दल भी आया है। जिमनास्टिक की प्रतियोगिता नीलगंगा स्थित रेलवे के जिमनेशियम में आयोजित की जायेगी और वूशू तथा किक बॉक्सिंग की प्रतियोगिता माधव सेवा न्यास के हॉल में ही आयोजित होंगी।

मंत्री श्री जैन ने कहा कि शीघ्र ही 4.5 करोड़ रूपये की लागत से उज्जैन में अलग जिमनेशियम भी बनाया जायेगा। सभी खिलाड़ियों का भगवान महाकालेश्वर की नगरी में हार्दिक स्वागत है। मंत्री श्री जैन ने कहा कि वे भी कुश्ती के खिलाड़ी रह चुके हैं तथा कई प्रतियोगिताओं में उन्होंने भाग लिया है। आज से अगले 5 दिनों तक विभिन्न प्रतियोगिताएं आयोजित की जायेंगी। सभी खिलाड़ी इसके लिये पूरे जी-जान से मेहनत करेंगे, लेकिन किसी भी प्रतियोगिता में विजेता को कोई एक ही होता है। जिन खिलाड़ियों को पहला स्थान प्राप्त न हो, वे इससे निराश न हों, बल्कि अपने लक्ष्य पर सदैव अपना ध्यान केन्द्रित कर अभ्यास करते रहें। सफलता 1 दिन में नहीं मिलती, लेकिन निरन्तर अभ्यास करने से खिलाड़ियों को सफलता 1 दिन जरूर मिलेगी।

प्रदेश के खिलाड़ी खेलों में आगे चलकर अपने प्रदेश और देश का नाम पूरी दुनिया में रोशन करें। खूब मन लगाकर पढ़ाई करें। मध्य प्रदेश शासन की ओर से उन्हें हर संभव सहयोग दिया जायेगा। खेलों के साथ-साथ पढ़ाई पर भी ध्यान दें। 75 प्रतिशत से अधिक नम्बर लाने पर मेधावी विद्यार्थियों को सरकार द्वारा लैपटॉप प्रदाय किये जायेंगे। यह बड़े गौरव का विषय है कि उज्जैन में राज्य स्तरीय क्रीड़ा प्रतियोगिता आयोजित की जा रही है। मंत्री श्री जैन ने जानकारी दी कि मध्य प्रदेश में अब खेल जगत और खिलाड़ियों के लिये 100 करोड़ रूपये से अधिक राशि का बजट सरकार द्वारा दिया जाता है। खिलाड़ी खूब मन लगाकर अभ्यास करें और प्रतियोगिताओं में शामिल होकर अपना नाम रोशन करें।

विधायक डॉ.मोहन यादव ने कहा कि जब भी कोई क्रीड़ा प्रतियोगिता आयोजित होती है तो सभी खिलाड़ियों के मन में केवल यही बात होती है कि मुझे अपना सर्वश्रेष्ठ प्रदर्शन करना है। वे पूरी शक्ति और सामर्थ्य से प्रतियोगिता में भाग लेते हैं। खिलाड़ी हमारे प्रदेश और देश के भविष्य हैं। उन्होंने सभी को अपनी ओर से शुभकामनाएं दीं।

इसके पश्चात अतिथियों को स्मृति चिन्ह प्रदाय किये गये। उद्घाटन सत्र में खिलाड़ियों द्वारा वूशू का प्रदर्शन किया गया। राष्ट्रीय जिमनेशियम खिलाड़ी विपत्सना अवस्थी द्वारा सभी खिलाड़ियों को शपथ दिलवाई गई। इसके बाद वूशू खिलाड़ी साक्षी जाटव और स्वेच्छा जाटव द्वारा प्रदर्शन किया गया। अतिथियों द्वारा हाल ही में ब्राजील में आयोजित खेल प्रतियोगिता में ब्रांज मेडल विजेता भोपाल के खिलाड़ी हिमांशु विश्वकर्मा का सम्मान किया गया। मंत्री श्री पारस जैन द्वारा क्रीड़ा प्रतियोगिता शुरू की जाने की विधिवत घोषणा मंच से की गई। कार्यक्रम का संचालन श्रीमती ज्योति जैन ने किया और आभार प्रदर्शन श्री गिरिश तिवारी ने किया।                                 (फोटो संलग्न)

क्रमांक 2136                                                              अनिकेत शर्मा/जोशी