September 21, 2018

Latest News

“सफलता की कहानी” इलेक्ट्रॉनिक्स में इंजीनियरिंग किया हुआ युवा बेरोजगार हुआ सफल उद्यमी

ANKESH RATHI.jpgउज्जैन 04 अगस्त। मुख्यमंत्री श्री शिवराज सिंह चौहान के सफल नेतृत्व में उनके द्वारा अनेकों जनकल्याणकारी योजनाओं एवं कार्यक्रमों के साथ-साथ बेरोजगार युवक-युवतियों के लिये भी योजनाएं बनाई गई हैं। इन योजनाओं से बेरोजगार युवक-युवतियों को आसानी से उद्योग विभाग के माध्यम से ऋण उपलब्ध करवाकर उन्हें सफल उद्यमी बनाया जा रहा है। उज्जैन निवासी श्री अंकेश ओमप्रकाश राठी ने इलेक्ट्रॉनिक्स में इंजीनियरिंग उत्तीर्ण की है। जिला व्यापार एवं उद्योग केन्द्र के सम्पर्क में आकर लैब विजन टेक्नालॉजी में फूड इण्डस्ट्री के लिये मुख्यमंत्री युवा उद्यमी योजना के अन्तर्गत 50 लाख रूपये का ऋण वर्ष 2015-16 में लेकर वे आज एक सफल उद्यमी बन गये हैं।

अंकेश ओमप्रकाश राठी ने अवगत कराया कि उन्होंने मक्सी रोड 138/2/2 शंकरपुर में मुख्यमंत्री युवा उद्यमी योजना के अन्तर्गत फूड इण्डस्ट्री लगाई है। इण्डस्ट्रीज में मशीनों के निर्माण का कार्य कर रहे हैं। वे उद्योग लगाकर वे अपने कारखाने में करीब 10-12 बेरोजगार लोगों को रोजगार भी मुहैया करा रहे हैं। अभी तक उन्होंने अपने उद्योग में 80 से 100 मशीनों का निर्माण कर अन्य को विक्रय किया है। उनके द्वारा 1 मशीन को लगभग 1 लाख रूपये में विक्रय किया जा रहा है। इस उद्योग से उन्होंने वर्ष 2015-16 से अभी तक लगभग 20 लाख रूपये की मशीनों का विक्रय कर दिया है। श्री राठी ने बताया कि वह मशीनों का निर्माण ऑर्डर पर बनाते हैं। उन्होंने जिला व्यापार एवं उद्योग केन्द्र के माध्यम से फ्रीगंज स्थित बैंक ऑफ इण्डिया शाखा के सहयोग से ऋण लेकर प्रतिमाह 1 लाख रूपये किश्त भी चुका रहे हैं।

वे बताते हैं कि कारखाने के खोलने से वे बहुत संतुष्ट हैं और राज्य शासन को बधाई देते हैं। राज्य शासन ने मुख्यमंत्री युवा उद्यमी योजना के अन्तर्गत उन्हें ऋण उपलब्ध करवाकर एक सफल उद्यमी बनाया है। उन्होंने बेरोजगार युवकों से भी अनुरोध किया कि वे बेरोजगार न रहकर शासन की इन महत्वाकांक्षी योजनाओं में उद्योग या अन्य विभागों से समन्वय स्थापित कर बैंक के माध्यम से ऋण लेकर एक अपना स्वयं का रोजगार स्थापित कर बेरोजगारी को दूर करें और साथ ही साथ अन्य को भी रोजगार उपलब्ध करवायें। श्री अंकेश राठी ने बताया कि उनके लेब विजन टेक्नालॉजी उद्योग में मशीनों का निर्माण किया जा रहा है और उन मशीनों से पापड़, रोटी, पानीपुरी आदि का निर्माण आसानी से किया जा सकता है।                                                (फोटो संलग्न)

क्रमांक 2262                                                            एसके उज्जैनिया/जोशी