September 21, 2018

Latest News

मुख्यमंत्री संबल योजना बनी गरीबों का सहारा –ऊर्जा मंत्री श्री पारस जैन, विभिन्न योजनाओं में जिले के 4 लाख 45 हजार से अधिक हितग्राहियों को 240 करोड़ का लाभ, जिला स्तरीय हितग्राही स्वरोजगार सम्मेलन सम्पन्न

उज्जैन 04 अगस्त। ऊर्जा मंत्री श्री पारस जैन ने कहा है कि प्रदेश में मुख्यमंत्री संबल योजना गरीबों का सहारा बन गई है। इस योजना को अब अन्य प्रदेशों में भी लागू किया जायेगा। पहले लोगों के पास बिजली का बिल आता था, बिजली नहीं आती थी। वर्तमान सरकार अब चौबीस घंटे बिजली दे रही है और करोड़ों रूपये के बिजली बिलों को माफ कर दिया गया है। अकेले उज्जैन जिले में 100 करोड़ से अधिक के बिजली के बिल माफ हो गये हैं। बिजली का उत्पादन जहां पहले 3900 मेगावाट था, वहीं यह बढ़कर 18 हजार मेगावाट हो गया है। ऊर्जा मंत्री ने कहा कि प्रदेश के मुख्यमंत्री एवं देश के प्रधानमंत्री का अभिनन्दन किया जाना चाहिये, जिन्होंने गरीबों के कल्याण के लिये बड़े निर्णय लिये हैं। प्रदेश में लाखों प्रधानमंत्री आवास निर्मित हो रहे हैं, उज्ज्वला योजना के तहत जिले में 86 हजार गृहिणियों को नि:शुल्क गैस कनेक्शन बांटे गये हैं। श्री पारस जैन ने यह बात कालिदास अकादमी परिसर में आयोजित जिला स्तरीय हितग्राही स्वरोजगार सम्मेलन में कही।

इसके पूर्व ऊर्जा मंत्री श्री पारस जैन, महापौर श्रीमती मीना जोनवाल, विधायक डॉ.मोहन यादव, श्री बहादुरसिंह चौहान, मप्र कर्मकार मण्डल के अध्यक्ष श्री सुल्तानसिंह शेखावत, एवं जिला सहकारी केन्द्रीय बैंक के संचालक श्री राजपालसिंह सिसौदिया ने दीप प्रज्वलन कर कार्यक्रम की शुरूआत की। इस अवसर पर कलेक्टर श्री मनीष सिंह एवं जिला पंचायत के मुख्य कार्यपालन अधिकारी श्री संदीप जीआर भी मौजूद थे।

कार्यक्रम में सम्बोधित करते हुए महापौर श्रीमती मीना जोनवाल ने कहा कि मुख्यमंत्री एक सच्चे जनसेवक हैं और हमेशा संवेदनशीलता का परिचय देते हैं। उन्होंने कहा कि मुख्यमंत्री संबल योजना का क्रियान्वयन नगर निगम द्वारा अच्छी तरह से किया जा रहा है और हमने आगामी मार्च में पूरे होने वाले लक्ष्य अगस्त में ही पूरे कर लिये हैं।

विधायक डॉ.मोहन यादव ने कहा कि मुख्यमंत्री द्वारा लगातार जनहितैषी काम किये जा रहे हैं और उन्हें निरन्तर जनता का आशीर्वाद भी मिल रहा है। प्रदेशभर में मुख्यमंत्री संबल योजना से लाखों पंजीकृत श्रमिकों को लाभान्वित किया जा रहा है। मुख्यमंत्री सरल बिजली बिल योजना एवं मुख्यमंत्री बकाया बिल माफी योजना एक क्रान्तिकारी कदम है। इससे गरीबों के जीवन में निश्चित रूप से प्रकाश फैलेगा। विधायक श्री बहादुरसिंह चौहान ने कहा कि मुख्यमंत्री ने प्रदेशभर में मुख्यमंत्री संबल योजना को लागू कर लाखों लोगों को लाभान्वित किया है। स्वरोजगार के माध्यम से उन्होंने अनेकों युवाओं को अपने पैरों पर खड़ा किया है। विधायक ने कहा कि वह दिन दूर नहीं जब देश के अन्य राज्य भी इस योजना का अनुसरण करेंगे।

हितग्राहियों को लाभ वितरित

कार्यक्रम में ऊर्जा मंत्री श्री पारस जैन, विधायक डॉ.मोहन यादव, श्री बहादुरसिंह चोहान, महापौर श्रीमती मीना जोनवाल एवं अन्य अतिथियों ने हितग्राहियों को प्रतीकात्मक रूप से हितलाभ वितरित किये। अतिथियों ने उद्योग विभाग की ओर से मुख्यमंत्री स्वरोजगार योजना एवं युवा उद्यमी योजना के तहत श्री रामकृष्ण पाटीदार को 5 लाख रूपये एवं सुश्री निरूपमा अग्रवाल को 1 लाख रूपये के ऋण का चेक भेंट किया। विद्या सागर योजना के तहत श्री बालूसिंह, श्री प्रतापसिंह एवं श्री मनोहरसिंह को मुर्रा भैंस पालन हेतु प्रत्येक को 16 हजार 950 रूपये के अनुदान का चेक भेंट किया गया। श्रम विभाग द्वारा जतनबाई को 2 लाख रूपये की अनुग्रह सहायता, प्रसूति सहायता योजना के अन्तर्गत चन्द्रकान्ता, पूजा, अनीता, चन्दा एवं दीया में से प्रत्येक को 11-11 हजार रूपये का चेक भेंट किया। इसीतरह मुख्यमंत्री बकाया बिजली बिल माफी योजना के अन्तर्गत श्रीमती सीताबाई, श्री कमल मरमट, श्री वीरेन्द्रसिंह, कन्हैयालाल, बैजनाथ एवं कालूराम को बिजली बिल माफी के प्रमाण-पत्र भेंट किये गये। उद्यानिकी विभाग की ओर से श्री लक्ष्मीनारायण एवं श्री राधेश्याम को ट्रेक्टर की चाबी भेंट की गई। इसी तरह श्री कमलसिंह श्री योगेन्द्र नागर, दरियावसिंह, अंबाराम एवं मोहम्मद नौशाद को कृषि के उन्नत यंत्र भेंट किये गये। बैंक द्वारा श्री मुकेश शिवनारायण को ई-रिक्शा भेंट किया गया। फसलबीमा योजना के तहत बीमा राशि बैंक में जमा करने का प्रमाण-पत्र श्री अंबाराम, रामगोपाल, कमल, शेख नियाज, गुफरान, रामेश्वर को दिये गये। उज्ज्वला योजना के तहत श्रीमती चन्दरबाई, लक्ष्मी, आरती, पूजा को प्रतीकात्मक रूप से गैस कनेक्शन भेंट किये गये। मुख्यमंत्री संबल योजना के तहत सबीना, बाबूलाल, मोहम्मद, माजिद को स्मार्टकार्ड दिये गये। अनुग्रह सहायता येाजना के तहत लक्ष्मीबाई को 2 लाख, राजकुमार को 2 लाख एवं गीताबाई को 2लाख रूपये की राशि के चेक भेंट किये गये। कार्यक्रम का संचालन श्री सुदर्शन आयाचित ने किया एवं कला पथक दल द्वारा विभिन्न प्रस्तुतियां दी गईं।

हितग्राहियों ने उद्बोधन का सीधा प्रसारण देखा

कालिदास अकादमी परिसर में आयोजित किये गये जिला स्तरीय हितग्राही स्वरोजगार सम्मेलन  में बुधनी जिला सीहोर में आयोजित किये गये मुख्य कार्यक्रम का सीधा प्रसारण किया गया। इस प्रसारण को कार्यक्रम में मौजूद हितग्राहियों द्वारा देखा गया। मुख्यमंत्री ने कार्यक्रम की शुरूआत में छतरपुर, विदिशा एवं मुरैना के मुख्यमंत्री उद्यमी योजना, प्रसूति सहायता योजना एवं बिजली बिल माफी योजनाओं के हितग्राहियों से सीधे बात की एवं उनके उद्गार सुने।

मुख्यमंत्री ने इस अवसर पर कहा कि हमारी सरकार ने मध्य प्रदेश को बदलने का संकल्प लिया है। बीमारू राज्य से प्रदेश विकासशील राज्य, फिर विकसित राज्य और अब इसे समृद्ध राज्य बनाना है। किसी जमाने में यहां पर सड़क, बिजली, पानी और रोजगार नहीं था। शिक्षा की व्यवस्था चौपट हो गई थी और शिक्षा कर्मियों के भरोसे थी। हमने शिक्षा में सुधार करते हुए सभी अध्यापकों को शिक्षक बना दिया है। मुख्यमंत्री ने कहा कि किसानों के, गरीबों के बेटे योग्य होने के बाद भी शिक्षा से वंचित रह जाते थे। अब आर्थिक अभाव के कारण किसी भी योग्य बच्चे को शिक्षा से वंचित नहीं होना पड़ेगा। मुख्यमंत्री ने कहा कि इस वर्ष 7.5 लाख युवाओं को रोजगार से जोड़ा जायेगा। इसमें से अभी तक 2 लाख 52 हजार छात्रों को रोजगार दिया जा चुका है। उन्होंने कहा कि बेटियों का सम्मान करना इस सरकार का परम लक्ष्य है। हमने बेटियों के साथ दुर्व्यवहार करने वाले नरपिशाचों को फांसी पर लटकाने का प्रावधान किया है। उन्होंने कहा कि बालिकाओं को शासकीय नौकरी में 35 से 50 प्रतिशत तक आरक्षण दिया जा रहा है। मुख्यमंत्री ने कहा कि मध्य प्रदेश की धरती पर कोई भी गरीब बिना धरती के नहीं रहेगा। बुधनी के कार्यक्रम में केन्द्रीय कौशल विकास मंत्री श्री अनन्तकुमार हेगड़े भी शामिल हुए।

(फोटो संलग्न- सम्बोधित करते श्री पारस जैन, मुख्यमंत्री का उद्बोधन सुनते हितग्राही)

क्रमांक 2269                                                            एचएस शर्मा/जोशी