September 21, 2018

Latest News

श्रावण महोत्सव के दूसरे रविवार 05 अगस्त को होगा, श्री निलाद्री कुमार का सितार वादन एवं वरदा कला संस्थान इंदौर द्वारा भरतनाट्यम की प्रस्तुति

उज्जैन 04 अगस्त 18 । श्री महाकालेश्वर मन्दिर में प्रतिवर्षानुसार इस वर्ष भी श्रावण महोत्सव मनाया जा रहा है। श्री महाकालेश्वर प्रवचन हॉल में श्रावण महोत्सव के दूसरे रविवार 05 अगस्त 2018 को शाम 7 बजे श्री निलाद्री कुमार का सितार वादन एवं वरदा कला संस्थान इन्दौर द्वारा भरतनाट्यम की प्रस्तुति दी जाएगी ।

वरदा कला संस्थान, इन्दौर विगत 20 वर्षों से भरतनाट्यम के प्रचार -प्रसार एवं प्रस्तुतिकरण में अग्रणि रूप से कार्यरत है। संस्थान द्वारा समय-समय पर विभिन्न सरकारी व गैर सरकारी संस्थाओं मंे 113 से भी अधिक सफल एवं सुन्दर प्रस्तुतियां दी गई है। जिसमें भारत पर्व, कालिदास अकादमी, उज्जैन, बाल दिवस बाल भवन भोपाल, दूरदर्शन भोपाल, भोज महोत्सव धार, मालवा उत्सव इन्दौर, सिंहस्थ कला उत्सव 2018, आदि शामिल है। संस्थान की निदेशिका श्रीमती श्रुति राजीव शर्मा ने बताया कि, उनकी संस्था देश-विदेश में प्रतिष्ठित मंचों पर प्रस्तुति दे चुकी है। वह स्वयं एक सफल वास्तुविद होने के साथ-साथ संगीत प्रभाकर की उपाधि से सुशोभित है तथा भरतनाट्यम एवं कुचिपुडी नृत्य में दक्ष नृत्यांगना है। श्रीमती श्रुति राजीव शर्मा अहिल्या गौरव अलंकरण, समाचार पत्र नई दुनिया का नायिका सम्मान के साथ ही कई सम्मान व पुरस्कार प्राप्त कर चुकी है। वरदा कला संस्थान सामाजिक समरसता, नारी का सम्मान, दायित्वों का निष्ठापूर्वक निर्वहन, मातृभूमि के प्रति प्रेम भ्रूण हत्या, अंगदान, पर्यावरण का संरक्षण बाल अधिकार जैसे समसामयिक मुद्दों के प्रति लोगों में जागरूकता फैलाने के उद्देश्य को नृत्य के माध्यम से पूर्ण करने का प्रयास विगत दो दशकों से कर रहा है।

बहुआयामी कलाकार के रूप में अपनी पहचान बना चुके मुंबई के श्री निलाद्री कुमार अपने पिता एवं गुरू पं. कार्तिक कुमार से सितार की शिक्षा ग्रहण की तथा बारीकियों को समझा। श्री कुमार ने 6 वर्ष की आयु में पांडिचेरी में अपनी पहली प्रस्तुति दी तथा 15 वर्ष की आयु में अपने पिता के साथ एक एलबम रिलीज किया। श्री निलाद्री कुमार फिलहाल में वाह ताज विज्ञापन में दिखाई दे रहे है। वे सितार के अलावा उनके द्वारा बनाये माँडिफाईड म्युजिक इंस्टुमेंट “जितार“ पर भी प्रस्तुतियां देते है। आपको संगीत नाटक अकादमी अवार्ड, टीचर्स अचीवमेंट अवार्ड, संस्कृति अवार्ड, ग्लोबल फ्युजन हॉल ऑफ द फेम अवार्ड, सुरमणि अवार्ड, रसिकप्रिय एवं लोकप्रिय अवार्ड आदि प्राप्त है।
श्रावण महोत्सव में नियोजित शास्त्रीय वादन और नृत्य की रसवर्षा से नटराज श्री महाकालेश्वर की आराधना के उपक्रम में सुधिजन, साधक आदि सादर आमंत्रित हैं।              (फोटो संलग्न)

क्रमांक 2274                                                              एचएस शर्मा/जोशी