October 21, 2018

Latest News

सभी नवविवाहित महिलाओं के नाम वोटर लिस्ट में दर्ज किये जायें, महिला एवं बाल विकास विभाग को जिम्मेदारी सौंपी, कलेक्टर ने ‘स्वीप’ की बैठक ली

20180809_160223.jpg उज्जैन 09 अगस्त। कलेक्टर एवं जिला निर्वाचन अधिकारी श्री मनीष सिंह ने निर्देश दिये हैं कि जिले में हर वर्ग के मतदाता का नाम वोटर लिस्ट में अनिवार्य रूप से जोड़ा जाये। इसके लिये मतदाता जागरूकता एवं मतदाता की भागीदारी सुनिश्चित करने के लिये ‘स्वीप’ (मतदाता जागरूकता) गतिविधियां चरणबद्ध तरीके से जिले में संचालित की जायें। कलेक्टर ने महिला एवं बाल विकास विभाग को निर्देश दिये हैं कि जिले में नवविवाहित महिलाएं, जो अन्य स्थानों से अपने ससुराल में आई हैं, उनके शत-प्रतिशत नाम वोटर लिस्ट में जोड़ना सुनिश्चित किया जाये। इसके लिये आंगनवाड़ी कार्यकर्ता एवं सम्बन्धित परियोजना अधिकारी को पाबन्द किया जाये। कलेक्टर ने स्वीप गतिविधियों के लिये प्रत्येक जनपद में महिला एवं बाल विकास विभाग के परियोजना अधिकारी को नोडल अधिकारी बनाने के निर्देश दिये हैं। बैठक में जिला पंचायत के मुख्य कार्यपालन अधिकारी श्री संदीप जीआर, अपर कलेक्टर श्री दीपक आर्य, महिला एवं बाल विकास अधिकारी श्री सीएल पासी, श्री साबिर अहमद सिद्धिकी एवं अन्य विभागीय अधिकारी मौजूद थे।
कलेक्टर ने स्वीप (सिस्टेमैटिक वोटर्स एजुकेशन एण्ड इलेक्ट्रल पार्टिसिपेशन) गतिविधियों की समीक्षा की तथा निर्देश दिये कि मतदाता जागरूकता बढ़ाने के लिये स्थानों को चिन्हित कर होर्डिंग, फ्लेक्स आदि प्रचार सामग्री लगाई जाये। कलेक्टर ने कहा है कि प्रत्येक विकास खण्ड में मतदाता जागरूकता रथ का भ्रमण करवाते हुए नई वीवीपीईटी (VVPET) मशीन्स का प्रदर्शन प्रत्येक विकास खण्ड में करने को कहा है। कलेक्टर ने स्वीप गतिविधि करने के लिये जिला स्तर पर स्वीप आइकॉन नियुक्त करने के निर्देश दिये हैं। कलेक्टर ने इसी के साथ कहा है कि सभी महाविद्यालय में 18 वर्ष की आयु से ऊपर छात्रों के शत-प्रतिशत नाम मतदाता सूची में जोड़ने के लिये महाविद्यालय में कैम्पस एम्बेसडर नियुक्त किया जाये।
दिव्यांगजनों को बाधारहित वातावरण उपलब्ध कराया जायेगा
बैठक में जानकारी दी गई कि जिले में चिन्हित किये गये दिव्यांगजनों को मतदान केन्द्रों पर बाधारहित वातावरण उपलब्ध कराया जायेगा। कलेक्टर ने निर्देश दिये हैं कि जिले में पहचान-पत्र वाले 12 हजार 211 दिव्यांगों में से 18 वर्ष की आयु से ऊपर के सभी दिव्यांगों का नाम मतदाता सूची में अनिवार्य रूप से शामिल किया जाये। साथ ही उन्हें मतदान केन्द्रों तक आने के लिये प्रेरित किया जाये। दिव्यांगजनों से अपने-अपने क्षेत्र में बीएलओ, ग्राम पंचायत सचिव एवं आंगनवाड़ी कार्यकर्ता सम्पर्क करेंगे। बैठक में बताया गया कि विधानसभावार वर्तमान में कुल मतदाताओं के जेण्डर रेशो अनुरूप महिलाओं के नाम मतदाता सूची में जोड़ने की कार्यवाही की जा रही है। कलेक्टर ने महिला एवं बाल विकास विभाग के सभी परियोजना अधिकारी व पर्यवेक्षकों को कहा है कि वे इलेक्शन मोड में काम करते हुए निर्वाचन कार्य को सम्पन्न करवाने में सहयोग करें। (फोटो संलग्न)