September 21, 2018

Latest News

भगवान महाकाल ने तीन रूपों में भक्तों को दिये दर्शन, सवारी में हजारों श्रद्धालुओं ने राजाधिराज के दर्शन का लाभ लिया

उज्जैन 13 अगस्त। शिव की नगरी उज्जयिनी में श्रावण माह के तीसरे सोमवार को आज बाबा श्री महाकालेश्वर ने तीन स्वरूपों में दर्शन दिये। सवारी निकलने के पूर्व भगवान श्री महाकाल के श्री चन्द्रमौलीश्वर स्वरूप का पूजन-अर्चन शासकीय पुजारी श्री घनश्याम शर्मा द्वारा विधि-विधान से किया गया। इसके बाद ऊर्जा मंत्री श्री पारस जैन, राज्यसभा सदस्य श्री सत्यनारायण जटिया, सिहस्थ केन्द्रीय समिति के अध्यक्ष श्री माखन सिंह चौहान, विधायक श्री मोहन यादव, उज्जैन विकास प्राधिकरण अध्यक्ष श्री जगदीश अग्रवाल, संभाग आयुक्त श्री एम.बी.ओझा, आई.जी. श्री राकेश गुप्ता, कलेक्टर श्री मनीष सिंह, पुलिस अधीक्षक श्री सचिन अतुलकर, प्रशासक श्री अभिषेक दुवे ने भगवान श्री चन्द्रमौलीश्वर का पूजन-अर्चन किया एवं पूजन उपरान्त पालकी को कान्धा देकर आगे बढाया।
श्रावण माह के तीसरे सोमवार को भगवान महाकालेश्वर ने पालकी में श्री चंद्रमौलेश्वर स्वरूप में एवं श्री शिवतांडव स्वरूप में गरूड़ पर सवार होकर अपने भक्तों को दर्शन दिये। हाथी पर श्री मनमहेश विराजित थे। पालकी जैसे ही मन्दिर के मुख्य द्वार पर पहुंची वहां पर भगवान श्री चन्द्रमौलीश्वर को सशस्त्र पुलिस बल के जवानों ने सलामी दी गयी। सवारी मार्ग के दोनों ओर हजारों श्रद्धालु जय महाकाल का उद्घोष करते हुए भगवान को पुष्प अर्पित करते हुए दर्शन लाभ ले रहे थे। श्री महाकाल मन्दिर से गुदरी चौराहा, बक्षी बाजार, कहारवाड़ी होते हुए रामघाट पहुंची। रामघाट पर भगवान महाकाल का शिप्रा के जल से अभिषेक कर पूजन-अर्चन किया गया। सवारी में विभिन्न भजन मण्डलियां भक्तिमय होकर भगवान महाकाल के गुणगान एवं आराधना करते हुए चल रही थीं।
चौथी सवारी में उमा-महेश की प्रतिमा शामिल होगी
20 अगस्त को चौथी सवारी निकाली जायेगी। चौथी सवारी में श्री चन्द्रमौलेश्वर पालकी में, श्री महमहेश हाथी पर, श्री शिव ताण्डव की प्रतिमा गरूड पर के अतिरिक्त श्री उमा-महेश बैल पर सवार होकर नगर भ्रमण पर निकलेगे।
क्रमांक 2347 एचएस शर्मा