September 21, 2018

Latest News

अब तक के 71 और आने वाले अनगिनत वर्षों के लिये स्वतंत्रता दिवस की ढेर सारी शुभकामनाएं, हर्षोल्लास के साथ मनाया गया 71वा स्वतंत्रता दिवस, चारों ओर राष्ट्रभक्ति के बिखरे रंग, उज्जैन में आयोजित कार्यक्रम में मुख्य अतिथि ऊर्जा मंत्री श्री पारस जैन फहराया राष्ट्रध्वज

उज्जैन 15 अगस्त। बुधवार को 15 अगस्त पर देश का 71वा स्वतंत्रता दिवस पूरे हर्षोल्लास के साथ मनाया गया। चारों ओर राष्ट्रभक्ति के रंग बिखरे। उज्जैन में मुख्य कार्यक्रम दशहरा मैदान में प्रात: आयोजित किया गया। कार्यक्रम के मुख्य अतिथि प्रदेश के ऊर्जा मंत्री श्री पारस जैन ने इस अवसर पर राष्ट्रध्वज फहराया और परेड की सलामी ली। स्वतंत्रता दिवस कार्यक्रम में इस अवसर पर संभागायुक्त श्री एमबी ओझा, कलेक्टर श्री मनीष सिंह, आईजी श्री राकेश गुप्ता, डीआईजी श्री रमनसिंह सिकरवार, पुलिस अधीक्षक श्री सचिन अतुलकर, मुख्य कार्यपालन अधिकारी जिला पंचायत श्री संदीप जीआर, नगर निगम आयुक्त सुश्री प्रतिभा पाल, अन्य वरिष्ठ अधिकारी, जनप्रतिनिधि, स्वतंत्रता संग्राम सैनानी और गणमान्य नागरिक मौजूद थे।
कार्यक्रम स्थल में पहुंचने के पश्चात मंत्री श्री जैन द्वारा झंडा वन्दन किया गया। इसके पश्चात राष्ट्रगान हुआ। कला पथक दलों द्वारा मध्य प्रदेश गान की प्रस्तुति दी गई। इसके बाद मुख्य अतिथि द्वारा परेड का निरीक्षण किया गया और सलामी ली गई। इसके बाद तिरंगे के रंग में रंगे गुब्बारे उड़ाये गये।
ऊर्जा मंत्री द्वारा स्वतंत्रता दिवस पर प्रदेश के मुख्यमंत्री श्री शिवराज सिंह चौहान के सन्देश का वाचन किया गया।
मुख्यमंत्री के सन्देश के प्रमुख बिन्दु
• मध्य प्रदेश ने देश और समाज के लिये अपनी जान की कुर्बानी देने वाले शहीदों की स्मृति को चिरस्थाई बनाने के अनेक कार्य किये और आगे भी करेगा।
• प्रदेश में प्रतिव्यक्ति आय अब बढ़कर 79 हजार 907 रूपये इस वर्ष होने का अनुमान है।
• देश और दुनिया की अनूठी मुख्यमंत्री जनकल्याण संबल योजना इस वर्ष से लागू की गई।
• प्रधानमंत्री उज्ज्वला योजना में गरीब महिलाओं को 43 लाख नवीन गैस कनेक्शन नि:शुल्क उपलब्ध कराये गये।
• इस वर्ष फसल बीमा, मुख्यमंत्री कृषक समृद्धि, भावान्तर भुगतान, प्राकृतिक आपदाओं से फसल क्षति और अन्य विभिन्न योजनाओं से किसानों के खाते में सीधे 35 हजार करोड़ रूपये की राशि पहुंचाई गई।
• स्मार्ट सिटी परियोजना में उज्जैन सहित भोपाल, इन्दौर, जबलपुर, ग्वालियर, सतना और सागर शामिल हैं।
• प्रधानमंत्रीजी द्वारा गरीबों के स्वास्थ्य के लिये 1 महत्वाकांक्षी योजना आयुष्मान भारत योजना प्रारम्भ की गई, जिसके तहत प्रत्येक गरीब परिवार को 5 लाख रूपये तक के नि:शुल्क इलाज की व्यवस्था किसी भी सरकारी या प्रायवेट अस्पताल में इलाज के लिये की गई है।
• मध्य प्रदेश में मातृ मृत्यु दर में 48 अंकों की गिरावट आई है, जिसकी सराहना राष्ट्रीय स्तर पर की गई।
• स्कूली शिक्षा में गुणवत्ता के सुधार के लिये 1 परिसर 1 शाला की अवधारणा प्रारम्भ की जा रही है।
• प्रदेश का पहला शासकीय कन्या आवासीय संस्कृत स्कूल भोपाल में प्रारम्भ किया गया। इसके अलावा 5 आदर्श संस्कृत स्कूल उज्जैन, सिरोंज, दतिया, बुरहानपुर और बरही (कटनी) में खोले गये हैं।
• इस वर्ष निजी कंपनियों और युवाओं के मध्य कड़ी का काम करते हुए सरकार द्वारा बड़े पैमाने पर रोजगार मेले लगाये गये, जिसमें लगभग सवा लाख युवाओं को नौकरियां प्रदान की गईं।
• राज्य सरकार ने इस वर्ष 9 अगस्त को जनजातीय कल्याण की दिशा में 1 नया कदम उठाते हुए अन्तर्राष्ट्रीय आदिवासी दिवस को समारोहपूर्वक मनाया।
• अनुसूचित जातियों का सर्वांगीण विकास सरकार की प्राथमिकता में है।
• बालिकाओं से दुष्कर्म या सामूहिक दुष्कर्म के अपराध को मृत्यु दण्ड से दण्डनीय बनाने वाला कानून विधानसभा में पास कराने वाला मध्य प्रदेश पहला राज्य है।
• प्रदेश की जनता पर्यावरण के संरक्षण के लिये 1 व्यक्ति 1 पेड़ के सिद्धान्त को अपनाकर 1 पौधा लगाये।
• राज्य शासन ने कर्मचारियों के कल्याण का पूरा ध्यान रखा है। अनेक कदम सरकार द्वारा उठाये गये हैं और आगे भी उठाये जायेंगे।
• अब नामांतरण उपरान्त अभिलेख दुरूस्त करने के बाद ही खसरा और आदेश की नकल नि:शुल्क दी जायेगी।
• प्रदेश के स्पोर्ट्स हब के रूप में पहचान बन रही है। बिते डेढ़ दशक में खेल अधोसंरचनाओं का उल्लेखनीय विकास हुआ है।
• सीएम हेल्पलाइन नागरिक केन्द्रित सेवा प्रदाय की पहल है। इसमें अब तक प्राप्त 95 प्रतिशत शिकायतों का निराकरण किया जा चुका है।
• साम्प्रदायिक सौहार्द्र की दृष्टि से प्रदेश देश में मिसाल बना है।
• डायल 100 योजना से 50 लाख से भी अधिक पीड़ितों और जरूरतमन्दों को मौके पर पुलिस सहायता मिली है।
• प्रदेशभर में संवेदनशील स्थानों पर 10 हजार सीसीटीवी कैमरे लगाये जाकर असामाजिक तत्वों पर नजर रखने वाला मध्य प्रदेश पहला राज्य है।
• स्वतंत्रता दिवस पर हम सब मिलकर प्रदेश को समृद्ध बनाने का संकल्प लें। एक ऐसा प्रदेश जिस पर हम सबको ही नहीं, बल्कि देश को भी गर्व हो।
इसके पश्चात मार्चपास्ट किया गया। मंत्री श्री जैन ने स्वतंत्रता संग्राम सैनानियों का उनके स्थान पर पहुंचकर शाल और श्रीफल भेंटकर सम्मान किया। इस दौरान कलेक्टर और एसपी भी मौजूद थे। सम्मान के पश्चात विभिन्न विद्यालयों द्वारा सांस्कृतिक कार्यक्रमों की आकर्षक प्रस्तुति दी गई। शाकउमावि विरायाराजे की छात्राओं द्वारा “पधारो म्हारे देश” पर नृत्य प्रस्तुत किया गया। सेंटमेरी कॉन्वेंट विद्यालय के छात्र-छात्राओं द्वारा देशभक्ति पर नृत्य नाटिका की प्रस्तुति दी गई। इसके बाद सेंटपॉल सीनियर सेकेंडरी स्कूल के विद्यार्थियों द्वारा झांसी की रानी लक्ष्मीबाई तथा अंग्रेजों से उनके युद्ध की कथा नृत्य और गीत के माध्यम से प्रस्तुत की गई, जिसमें 1857 की क्रान्ति की झलक भी दिखाई दी। शाकउमावि धानमंडी के विद्यार्थियों द्वारा भारत माता की स्तुति “जय गायें मां तेरी जय गांयें हम” पर नृत्य प्रस्तुत किया गया, जिसकी परिकल्पना सुश्री शशिकला परिहार द्वारा की गई।
सांस्कृतिक प्रस्तुतियों के बाद मुख्य अतिथि श्री पारस जैन और अन्य विशिष्ट अतिथियों द्वारा विभिन्न शासकीय विभागों के अधिकारियों और कर्मचारियों को प्रशंसा-पत्र मंच से दिये गये। प्लाटून द्वारा किये गये मार्चपास्ट के परिणामों में सीनियर ग्रुप में प्रथम पुरस्कार 32वी वाहिनी विशेष सशस्त्र बल उज्जैन, द्वितीय पुरस्कार जिला होमगार्ड प्लाटून, तृतीय पुरस्कार जिला पुलिस बल प्लाटून, जुनियर ग्रुप में प्रथम पुरस्कार शाउमावि माधव नगर, द्वितीय पुरस्कार एनएसएस गर्ल शाउमावि दशहरा मैदान और तृतीय पुरस्कार स्काऊट गाइड दशहरा मैदान को दिया गया। सांस्कृतिक कार्यक्रमों में सभी विद्यालयों के विद्यार्थियों को पुरस्कृत किया गया। कार्यक्रम का संचालन डॉ.ज्योति जैन और श्री संदीप नाडकर्णी ने किया। (फोटो संलग्न)
क्रमांक 2366 अनिकेत शर्मा/जोशी