May 24, 2018

Latest News

काम नहीं करना चाहते हों, तो जिला छोड़कर चले जायें, अब आगे कार्यवाही करूंगा –कलेक्टर श्री भोंडवे

उज्जैन 27 सितम्बर। कलेक्टर श्री भोंडवे ने जिले के सभी तहसीलदारों एवं नायब तहसीलदारों को कहा है कि वे अब अधिक समय तक प्रकरणों को पेंडिंग न रखें और तुरन्‍त कार्यवाही करें। उन्होंने चेतावनी देते हुए कहा कि जो अधिकारी काम नहीं करना चाहते हों, वे जिला छोड़कर चले जायें, अन्यथा अब आगे कार्यवाही करूंगा। कलेक्टर ने यह बात आज राजस्व अधिकारियों की समीक्षा बैठक में कही। उन्होंने समीक्षा के दौरान कहा कि जिले में विभिन्न न्यायालयों से वसूली हेतु प्राप्त वारंटों की धनराशि में शून्य वसूली हुई है, जबकि आरबीसी 6(4) के तहत प्रकरणों में 18 लाख रूपये की राशि वितरित होना शेष है। उक्त दोनों ही बातों पर कलेक्टर ने नाराजगी व्यक्त करते हुए शीघ्र कार्यवाही करने के निर्देश दिये।

कलेक्टर ने सड़क दुर्घटना, आरबीसी 6(4), सोलेशियम फण्ड, सर्पदंश से मृत्यु आदि के मामलों में सभी तहसीलदारों को एक पखवाड़े में निर्णय कर हितग्राहियों को भुगतान करने के निर्देश दिये हैं। उन्होंने 29 सितम्बर तक राहत राशि डिस्बर्स करने को कहा है। कलेक्टर ने प्रत्येक पटवारी हलकावार पांच-पांच सीमांकन करने के निर्देश दिये हैं। यह सीमांकन लघु सीमान्त कृषकों के होंगे। कलेक्टर ने कहा कि भूमि सम्बन्धी विवाद आने पर सभी एसडीएम दण्ड प्रक्रिया संहिता-1973 की धारा 14 के तहत स्वप्रेरणा से प्रकरण दर्ज करें और प्रारम्भिक आदेश जारी कर रिसीवर नियुक्त करते हुए शान्ति व्यवस्था बनाये रखना सुनिश्चित करें।

कोटवारों के पद भरें

उज्जैन जिले में कोटवारों के 27 पद रिक्त हैं। कलेक्टर ने निर्देश दिये हैं कि सभी एसडीएम अपने-अपने क्षेत्रों में रिक्त कोटवारों के पदों की पूर्ति नियमानुसार करें। उन्होंने कहा है कि अनफिट कोटवारों के स्थान पर सहमति के आधार पर नये कोटवारों की नियुक्ति की जा सकती है। कलेक्टर ने ग्रामीण क्षेत्र में सूचना तंत्र विकसित करने एवं कोटवारों को सक्रिय करने के निर्देश जारी किये हैं।

प्रत्येक पटवारी ग्राम पंचायत में 2 घंटे बैठेगा

कलेक्टर ने सभी एसडीएम को यह सुनिश्चित करने को कहा है कि वे अपने-अपने क्षेत्रों के पटवारियों को ग्राम पंचायत में सप्ताह में एक निश्चित दिन दो घंटे बैठने के निर्देश दें। साथ ही इस आशय की सूचना पंचायत की दीवार पर आईल पेंट से लिखवाई जाये। उन्होंने भू-राजस्व वसूली समय पर करने तथा भाड़ा नियंत्रण एक्ट एक्टीवेट करने को कहा है। उन्होंने आगामी 2 अक्टूबर को आयोजित होने वाली ग्राम सभाओं में खसरा, बी-1, नक्शा, विस्तार पत्रक की छायाप्रतियां सार्वजनिक रूप से उपलब्ध कराने को कहा है। बैठक में एडीएम श्री अवधेश शर्मा, अपर कलेक्टर श्री नरेन्द्र सूर्यवंशी, श्री संतोष वर्मा, सभी एसडीएम एवं तहसीलदार मौजूद थे।

-हरिशंकर शर्मा (मो.नं.-9424863313)

क्रमांक 267-3115 जोशी