October 21, 2018

Latest News

मच्छर लार्वा भक्षण के लिये छोड़ी गई एक लाख गंबूशिया मछलियां

उज्जैन 29 सितम्बर। जिले में लगभग सभी तालाबों में मच्छर लार्वा भक्षण के लिये करीब एक लाख गंबूशिया मछलियां छोड़ी गई हैं। यह जानकारी गत दिनों आयोजित एक बैठक में दी गई। बैठक की अध्यक्षता संयुक्त कलेक्टर श्री एस.एस.रावत ने की।

जिला मलेरिया अधिकारी श्री अविनाश शर्मा ने मलेरिया की रोकथाम के लिये किये जा रहे प्रयासों और कार्य योजना से बैठक में अवगत कराया। उन्होंने जांच के तथा उपचार के लिये औषधियों की उपलब्धता की जानकारी भी दी। बैठक में चर्चा के दौरान संयुक्त कलेक्टर ने निर्देश दिये कि अक्टूबर माह में भी मलेरिया का प्रकोप संभावित रूप से हो सकता है, इसलिये सभी सम्बन्धित विभाग आपसी समन्वय व सहयोग से मलेरिया, डेंगू, चिकन गुनिया आदि की रोकथाम हेतु सतत मैदानी अमले को सक्रिय रखें। किसी स्थान पर कोई प्रकरण पाया जाने पर लार्वा सर्वेक्षण तुरन्त करते हुए आवश्यक छिड़काव व टीफा मशीनों का उपयोग करें। रोगी की जांच करके उपचार तुरन्त शुरू कर दिया जाये।

डेंगू तथा मलेरिया से बचाव के लिये सामयिक सलाह

स्वास्थ्य विभाग ने डेंगू तथा मलेरिया से बचाव के लिये जन-सामान्य को जारी सलाह में कहा है कि लार्वा तथा मच्छरों को पनपने से रोकें। छत, कूलर, गमले, बर्तन, टंकियों आदि में तथा घर के आसपास पानी जमा नहीं होने दें। बुखार आने पर तुरन्त खून की जांच करायें। जांच में मलेरिया/डेंगू पाये जाने पर पूरा इलाज लें। मलेरिया व डेंगू की जांच व उपचार की सुविधा सभी शासकीय चिकित्सालयों में नि:शुल्क उपलब्ध है। डेंगू फैलाने वाला मच्छर साफ पानी में पैदा होता है, यह दिन में काटता है। शरीर को पूरी तरह ढंकने वाले पूरी आस्तीन के कपड़े पहनें, ताकि मच्छर काटने से बचा जा सके। तेज बुखार, सरदर्द, उल्टी, जोड़ों एवं मांसपेशियों में दर्द डेंगू हो सकता है। खून की तुरन्त जांच करवायें। -शकील खान (मो.नं.-9826632452)

क्रमांक 287-3135 जोशी